Biography of Adolf Hitler In Hindi 2020

Biography of Adolf Hitler In Hindi 2020

Biography of Adolf Hitler-

 

हेलो! कैसे हो फ्यूचर के सुपरस्टारों ….आशा करता हू की अच्छे होगे और लॉकडाउन का पालन कर रहे होगे |

निवेदन :- घर पर रहे , सुरक्षित रहे..

Biography of Adolf Hitler
Source:-Google\Facebook

“हिटलर” का नाम आप सभी ने कभी ना कभी सुना ही होगा | और हमारे भारत में तो यह बहुत ही famous शब्द है “हिटलर”(movie)| याद करिये , जब हम बच्चे थे , और हम बहुत सी शरारत किया करते, तो हमारे बड़े हमे इसी “हिटलर” नाम से बुलाते | तब शायद हमे लगता की अगर कोई बहुत शैतान है तो लोग उसे “हिटलर”कहते है | पर जब हम बड़े हुए तो इसके पीछे की वजह समझ में आयी की , वह हमे हिटलर क्यों कहते थे ?

दरअशल हिटलर एक ऐसा नाम है , जिसने की पूरी दुनिया को बदल कर रख दिया | आज हम  विश्व युद्ध से जितना डरते है | वही हिलटर विष युद्ध पहले और विष युद्ध दूसरे दोनों युद्धों शामिल हुए बहुत ही कम लोगो में से एक थे |  जी हां , वह चंद उन लोगो में एक एक थे , जिन्होंने की दोनों युद्ध लड़े थे | यहाँ तक उनकी वजह से ही दूसरा विष युद्ध  हुआ था |

आज पूरी दुनिया उनको एक बहुत ही भयानक तानाशाह के नाम से जानती है | पर क्या आपको पता है ? की जब उनकी माता जी की मृत्यु थी तो वह इतने रोये थे की मानो , वह जी ही नहीं सकते थे ?  और क्या आप जानते है ? की हिलटर बचपन में एक पादरी(Fathers) बनना चाहते थे |

ये बात जानकर हम भी हैरान थे की ऐसी सोच वाला इंसान भी दुनिया का इतना खतरनाक इंसान बन सकता है ? तो चलिए जानते है की आखिर क्या हुआ की वह दुनिया के सबसे भयानक तानाशाह बन गए ? और उनकी वजह कई लाखो लोगो की मौत हो गयी ?

शुरुआती जीवन –

हिलटर जिनका की पूरा नाम अडोल्फ हिलटर है , उनका जन्म 20 अप्रैल , 1889 को ऑस्ट्रिया के ब्राउनौ में हुआ | जहा हिटलर अपने पिता के तीसरी पत्नी के चौथे बच्चे थे , और  बाकि सभी तीन बच्चे किसी ना किसी वजह से मर गए थे | जिस वजह से हिटलर अपनी माँ के एकलौते बच्चे थे | इसी कारण उनकी माँ उनसे  बहुत ज्यादा प्यार करती थी | पर वही हिलटर और उनके पिता के बीच बचपन से ही हमेशा अंधबंद रहती  थी | हिटलर अपनी प्रारभिक शिक्षा लिंच से पूरी करते है |  और अपनी शिक्षा के द्वारान वह अपने स्कूल में मजूद एक पादरी को देख हमेशा सोचते की ” एक दिन मैं भी एक पादरी बनुगा ” |

हिलटर के बचपन के  व्यहार से कोई नहीं कह सकता था ? की ये लड़का बड़ा होकर किसी से आँख भी मिला पायेगा क्युकी हिटलर बहुत ही शर्मीले स्वभाव के थे|  कुछ समय बाद उनके पिता का देहान्त हो जाता है , और फिर कुछ सालो बाद उनकी माता का भी देहान्त हो  | जिससे की हिटलर बहुत ही दुखी हो जाते है |

Adolf Hitler biography
Source:-Google\Facebook

और वह अपनी मात्र भूमि को छोड़ जर्मनी ,बर्लिन के वियना आ जाते है | क्युकी उन्हें बचपन से ही जर्मनी देश से प्यार रहा था | यहाँ आकर वह कई छोटे-मोठे काम करते है , जैसे की झाड़ू लगाना , होटलो में कमरा साफ करना ऐसे ही कुछ कम वह किया करते थे |

हिलटर जर्मनी से इतना प्यार क्यों करते थे ? Biography of Adolf Hitler

दरअशल ये बात तब की है जब हिटलर स्कूल जाना शुरू करते है , वहा  वह अपने देश के कानून से निराश हो जाते है , की आखिर क्यों हमारा ये देश लाचार सा रहता है और हमेशा अपने लोगो पर ही अत्याचार करता है ? जिस वजह से हिटलर और देशो के कानून के बारे में  पढते है |

वहा उन्हें अपने ही पडोशी देश जर्मनी के बारे में पता चलता है | जिसके बाद से वह जर्मनी को अपना आदर्श मान लेते है | यहाँ तक की उन्होंने कई बार अपने देश के राष्ट्रगान को ना गा कर , जर्मनी के राष्ट्रगान गये  है | जिस कारण हिटलर अब जर्मनी आ जाते है | वह कई काम भी करते है , पर यहाँ आने के बाद उन्हें यहूदियों से नफरत होती है |

 आखिर क्यों हिटलर यहूदियों(वहा  की एक जाती होती है ) से  इतनी नफरत करते थे ? चलिए जानते है – Biography of Adolf Hitler

कई इतिहासकार इसके बारे में कभी खुलके अपने विचार नहीं बता पाए ? पर उनकी कुछ बातो को ध्यान में रखकर हमे जो संकेत मिलते है | हम आपको वह  बताने की कोशिश करेंगे | दरअशल जब हिटलर जर्मनी आया तो वहा उसे बहुत सी चीजों को देख आशर्य हुआ की कैसे यहाँ के लोग भी मिलकर नहीं रहते ? और ख़ासतौर पे यहूदियों | ये देखकर हिटलर को बड़ा गुस्सा आया पर हिटलर तब कुछ कर भी नहीं सकता था क्युकी वह किसी भी बड़े पद पर नहीं था |

तो आगे उन्होंने जर्मनी की सेना में जाने का फैसला किया और जल्द ही वह जर्मनी की सेना में भी शामिल हो गये | वह उन्होंने जर्मनी की ओर से पहला विष युद्ध लड़ा था | जिसके बाद उन्हें अपनी वीरता के लिए वहा की सरकार ने बहुत से अवार्ड्स दिए | जिसके बाद से ही वह कुछ लोगो के बीच famous हो गए थे |

बचपन में सिर्फ खुद से बात करने वाला ये व्यक्ति आज अपने भाषणों से ही कई लाखो लोगो के मन को मोह लेता था |

उसके बाद हिटलर ने नाज़ी दाल की स्थापना की | जिसका  की अहम् मकशद सिर्फ  यहूदियों के अधिकारों को छीनना था | धीरे-धीरे हिटलर की सोच अब सभी को पसंद आने लगी थी , जिसकी वजह से हिलटर  यहूदियों से इतना नफरत करते थे ? उनमें से सबसे बड़ी वजह साल 1929 में आये महामंदी की थी , जहा उन्हें लगा की  यहूदियों की वजह से ही महामंदी आयी है | जिसके बाद से ही हिलटर  यहूदियों के प्रति भाषण देकर उनका शोषण करते थे |

आगे चलकर वह राजनीति में भी आते है पर वहा वह  जीत नहीं पाते , लेकिन उस समय जीते वह के राजनेता उनकी लोकप्रियता को देख  | हिलटर को वहा का चांसलर बना देते है | कुछ महीनो बाद ही वहा के राजनेता की मृत्यु हो जाती है और फिर हिटलर वहा के राजनेता बन जाते है | जिसके बाद से तो मानो जर्मनी में एक काले साये का प्रकोप पड़  जाता है | वहा की जनता अब एक ऐसे तानाशाह के हाथ में थी , जो कुछ भी कर सकती है और आप कुछ भी नहीं कर सकते है |

दरअशल, क्या आपको पता है की किसी भी देश में एक तानाशाह कैसे बना जाता जाता है ? तो हम बताते है , अगर आप वहा की जनता का दिल जीत ले और फिर सरकार में आकर  सबसे पहले अपने ही विरोधियो का मुँह बंद करदे  , उनके खिलाफ कई कानून पास करवा ले तो आप  उस देश के तानाशाह बन गए | जिसके बाद से उस देश के सभी अधिकार आपके हाथ में है |  जैसे की हिटलर ने जर्मनी के साथ किया |

कैसे हिटलर ने 6 साल में 60 लाख लाशे बिछा दी? चलिए जानते है – Biography of Adolf Hitler

तो बात भी  बड़ी हैरान करती है ? कोई कैसे 60 लाख लोगो को मरवा सकता है | और जबकि वह बचपन में एक पादरी बनना चाहता था | शायद इसी वजह से कई लाख लोग हिटलर को पागल भी कहते थे | यही से हिटलर को दुनिया का सबसे क्रूर तानाशाह के नाम से जाना गया | हुआ यूं की , जब हिटलर राजनेता के पद पर बैठकर तानाशाह बने तब से ही उन्होंने यहूदियों के प्रति अत्याचार शुरू कर दिए | यहाँ भी उनका मन ना भरा तो , उन्होंने यहूदियों को मारना शुरू किया | उसके बाद से मनो लाशो की बौछारे भीच गई | उन्होंने 6 सालो में 60 लाख लाशे भीचा दी | जिसमें की 15 लाख लाशे तो सिर्फ और सिर्फ बच्चो के ही थे |

कैसे कराया हिटलर ने दूसरा विश्व युद्ध ? जानिए – Biography of Adolf Hitler

दरअशल ये 1939 के शुरआत में , जब हिटलर को लगा की वह अचानक से रूस पे हमला कर के रूस और फिर और भी कई देशो को जीत लेगा , तो उसने सबसे पहले नासी सेना को आदेश दिया की वह पहले पोलैंड पर हमला करे | उसके बाद से सभी देश मिलकर युद्ध लड़ने लगे | जिसके मुख कारण हिटलर ही थे |

ये युद्ध धीरे-धीरे ख़त्म होने वाला ही था | जिसके बाद से ही कई देशो और यहाँ तक की जर्मनी के भी लोग अब हिलटर को मरना कहते थे | जिसके कारण हिटलर हमेशा डरा रहता था | वह इतना डरा था की खुद का खाना खाने से पहले उसके लोग उसका खाना चख कर बताते की , इसमें कोई जहर नहीं है | अपना अंत नजदीक देख वह अपनी सम्पति का एक वारिश देना चाहता था | जिसके चलते उनसे ईव ब्राउन नाम की स्त्री से शादी कर ली | वह दिन था 29 अप्रैल , 1945  और उसके अगले दिन ही उसने अपनी हतिया कर ली , उसके साथ ही साथ अपनी पत्नी को भी मार दिया था |

तो चलिए जानते है कुछ फैक्ट्स हिटलर के बारे में – Biography of Adolf Hitler

  • हिटलर का पूरा नाम अडोल्फोस हिटलर है |
  • हिटलर 17 साल की उम्र में ही जर्मनी आ गए थे |
  • हिटलर ने नासी सेना का गठन किया था , जिसका की पहले नाम डीपीए था |
  • हिटलर ने हिन्दुओ का शुभ चिन्ह स्वस्तिक टिका अपनाया था |
  • हिटलर एक नास्तिक आदमी बन गया था |
  • हिटलर को लोग पागल भी कहते है |
  • हिटलर एक शाकाहारी इंसान थे |
  • हिटलर सुभष चंद्र बोस से भी मिले थे |
  • हिटलर कुल 6 भाई बहन थे , जिसमें से 4 की किसी न किसी वजह से मौत हो जाती थी | हिटलर और उनकी बहन पौला ही अपने परिवार में बचे थे |
  • हिटलर की माँ हिटलर को जन्म से पहले ही मार देना चाहती थी क्युकी उनके पति को अब बचे नहीं चाहिए थे | लेकिन फिर उनकी माँ ने हिटलर को जन्म दिया |
  • हिटलर की रूचि कला में थी | जिसकी वजह से उन्होंने “स्कूल ऑफ़ आर्ट्स” में दो बार अप्लाई भी किया था |
  • हिटलर देर रात तक जागते और सुबह 11 बजे उठते थे |
  • हिटलर इन्स्टीन को मरना चाहते थे |
  • हिटलर 1938 के man of the year भी थे |
  • हिटलर , नैपोलियन और सिकंदर ये सभी काली बिल्ली से डरते थे |
  • अडोल्फ का शब्दिक अर्थ होता है “खास भेड़िया “|
  • हिटलर ने जेल में एक बुक लिखी थी जिसका की नाम “mein keph ” था | 
  • हिटलर की इस बुक का मतलब मेरा संघर्ष है |

तो यही तक था इस तानाशाह का जीवन | उम्मीद करते है की आपको उनके बारे में कुछ नया जरूर पता चला होगा और अगर पता चला है तो कृपया हम एक कमेंट करके हमे मोटीवेट करे | थैंक्स Biography of Adolf Hitler

और भी पोस्ट पढ़े – Biography of Adolf Hitler

 

Anupjha

hello everyone i'm Anup i start my new career as blogger in 2020 i hope that you'll like my blog post. i want to say that i'll try to my best to get more information about my posts. thanks

Leave a Reply