Biography of Warren Buffet in Hindi 2020

Biography of Warren Buffet in Hindi 2020

Biography of Warren Buffet

हेलो कैसे हो  फ्यूचर के सुपरस्टारों आशा करता हु की अच्छे होंगे |

निवेदन :- घर पर रहे सुरक्षित रहे। …..

Biography of Warren Buffet in Hindi
Source:- Facebook

आज हम स्टॉक मार्किट के जादूगर और बादशाह के बारे में पढ़ने जा रहे | जी हां. वारेन बुफे , एक ऐसा नाम जिसे शायद ही आज कोई ना जनता हो | यह अपनी सोच के दम पर आज दुनिया के 4 सबसे आमिर इंसान है | इनकी इनकम का अंदाजा आप इसी बाद से लगा सकते है की कई कई देशे के जीडीपी , इनकी इनकम से कम होती है | इनकी आज की ये सफलता ,  दरअशल कई वर्षो की मेहनत का प्ररिणाम है | जिस उम्र में हम पहाड़े पढ़ रहे होते है , उस उम्र में ये शक्श अपना बिज़नेस कर रहा होता है | मात्र 14 साल में कैसे बनाया अपना पहला बिज़नेस? कौन है इनके रोले मोडल? कैसे बने दुनिया के सबसे बड़े दानवीर ? इन्ही सब सवालों और उनके जीवन के बारे में आज आपको जानने को मिलेगा | तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़े |

तो चलिए जानते है जादूगर ऑफ़ स्टॉक मार्किट वारेन बुफे के बारे में –

कौन है वारेन बुफे? Biography of Warren Buffet in hindi

अगर अभी  आपको उनके काम के बारे में नहीं पता है , तो हम आपको उनका एक छोटा सा इंट्रो दे देते है |वारेन बुफे दुनिया के सबसे अमीर आदमीओ में से एक , दुनिया के सबसे बड़े स्टॉक मार्केटर , दुनिया के सबसे बड़े इन्वेस्टर , हाल में दुनिया के सबसे बड़े दानी बने , और बर्कशायर हैथवे के मालिक है , बर्कशायर हैथवे जिस कंपनी का काम दूसरी कम्पनियो में इन्वेस्ट करना होता है | उस बड़े कंपनी के मालिक वारेन बुफे है |

कैसा रहा शुरआती जीवन ?-

द ग्रेट वारेन बुफे का जन्म 30 अगस्त , 1930 को अमेरिका के ओमाहा शहर के नेबरस्का शहर में हुआ था | ये वो द्वौर था , जब दुनिया में  ग्रेट डिप्रेशन(1929)  आया हुआ था | ग्रेट डिप्रेशन मतलब? ये द्वौर दुनिया का सबसे आर्थिक संकट वाला द्वार था | जिसमें की कई करोड़ो लोगो के जॉब चले गए थे | आज जैसा आर्थिक संकट पूरी दुनिया में आया है , उससे भी बुरा उस द्वार में आया था |

आज कारण है करोना वायरस , उस टाइम कारण था वर्ल्ड वॉर | वारेन बुफे एक बहुत ही अच्छे खासे घर में जन्मे थे | उनके पिता का नाम होवार्ड बुफे था , जोकि शेयर बाजार के कारोबारी थे | यानि की वार्रेफ़ बुफे को इन्वेस्टर बनने का गुण अपने पिता से ही पहले मिला था | पर आर्थिक तंगी आने से उनके पिता के ऊपर भी संकट आया था | जिस वजह से वह थोड़े दिनो के लिए Jobless हो गए थे | 

वही उनकी माता का नाम लैला बुफे था , जोकि एक बहुत ही बुद्धिमान स्त्री थी | उन्होंने ही सबसे पहले बुफे को मैथ सिखाया , जिस बुफे भी अपने बयानों में कई बार कह चुके है | शायद में इतना बड़ा इन्वेस्टर ना बनता अगर मेरी माँ मुझे मैथ के बेसिक चीजों को ना सीखती | वही उनकी दो बहने भी है , जिन्हे वह उनसे भी काफी तेज मानते है | उनकी बहने भी अपने-अपने  जीवन में काफी सफल है | उनकी बहनो के नाम है , डोरिस बुफे और रोबर्टा बुफे एल्लिओटे |

Biography of Warren Buffet in hindi
Source:- Facebook

क्यों उनकी बहने अपना नाम नहीं बना पाई ?

वारेन बुफे अपने फॅमिली में एकलौते पुत्र थे , जिस वजह से उन्हें अपने घरवालों से खूब प्यार मिलता था | एक बात जानकार आपको हैरत होगी की , अमेरिका जैसे देश में भी , वहा के लोगो में लड़के और लड़कियों के प्रति अलग-अलग धारणा थी | वहा के लोग लड़को को ज्यादा आजाद गुमने देते और लड़कीओ को घर में कैद रहने को कहते | जिस वजह से वारेन बुफे की बहने उनसे ज्यादा तेज होने के वावजूद , उनके जैसा नाम नहीं बना पाए | जबकि उनकी बहने उन्हें शुरू में स्टॉक मार्किट के बारे में बताती थी | वारेन बुफे को भी ये बात बहुत बुरी लगी थी |

स्कूल और कॉलेज में कैसे थे बुफे ?

 वारेन बुफे ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा Rose Hill Elementary School से शुरू की , जहा वह एक एवरेज स्टूडेंट की तरह थे | उसके बाद उनके पिता जी का चैन यूनाइटेड स्टेट ऑफ़ अमेरिका के कांग्रेस में हो गया | जिसके बाद वह 1942 में अपने पुरे परिवार के साथ वाशिंगटन शहर आ गये | जहा शुरू में तो वह काफी नाराज हुए पर फिर उनका एडमिशन ऐलिस डील जूनियर हाई स्कूल में हो गया और उसके बाद वहा पढ़े और फिर 1947 में वुडरो विल्सन हाई स्कूल से 12th की परीक्षा पास की |

उसके बाद उन्होंने हार्वर्ड बिज़नेस स्कूल में अपना एडमिशन का दाखिला पत्र भेजा , जिसे हार्वर्ड बिज़नेस स्कूल ने रिजेक्ट कर दिया | उन्हें क्या पता था की जिसे पत्र वह रिजेक्ट कर रहे है | उन्हें आने वाले टाइम में इन्वेस्टिंग का गुरु माना जायेगा | अपना दाखिला पत्र रिजेक्ट देख, फिर उन्होंने अपनी पढ़ाई  छोड़ने का फैसला किया और अपने पिता से कहा की ” मैं अब बिज़नेस करुगा और पढाई छोड़ दूंगा ” , जिसके बाद उनके पिता ने उन्हें बहुत डांटा | फिर वारेन बुफे ने कोलंबिया बिजनेस स्कूल में अपना एडमिशन करवया | जहा मिले उनके सबसे बड़े गुरु , बेंजामिन ग्रैहम |

कैसे सिर्फ 14  साल की उम्र में किया अपना पहला बिज़नेस ?

जी हां,शायद हम भारतीयों को ये सुनकर काफी हैरानी होगी , पर वारेन बुफे मात्र 14  साल की उम्र में ही अपना पहला बिज़नेस स्टार्ट करते है | इस  बिज़नेस  का आईडिया उन्हें एक बुक को पढ़कर आता है , जिस बुक का नाम ” 1000 वेज़ टू अर्न 1000 डॉलर्स ” होता है | उसके बाद वह अपनी सेविंग से पिनबॉल नाम का गेम खरीदते है , जिसके बाद वह उस पिनबॉल गेम को एक सलून में रख देते है | जिससे वहा बाल कटवाने बैठे लोग बोर ना हो और वो उस गेम को खेल अपना टाइम पास करे |

जिसके बाद उन्हें इस बिज़नेस में काफी सफलता मिली | उसके बाद उस बिज़नेस  प्रॉफिट को वह फिर से इन्वेस्ट कर देते , जिस के बाद उन्हें उस बिज़नेस से काफी प्रॉफिट हुआ |  यहाँ हम आपको  दो बाते  क्लियर कर दे की इस बिज़नेस में उनके एक दोस्त ने भी इन्वेस्ट किया था | और वह बुफे के बिज़नेस से इतने प्रभवित होता है की वह हर उस कंपनी में इन्वेस्ट  करते है , जिसमें वारेन बुफे पैसे लगाते है |

और दूसरी ये बात की वारेन मात्र 7 साल की उम्र से ही सेविंग करने लगे थे , वह पैसे कमाने के लिए मागज़ीने , न्यूज़पेपर , कोला के बोतल और भी कई काम किया करते थे | उन्ही सेविंग के पैसो से उन्होंने पिनबॉल वाला बिज़नेस किया था |

कैसे मात्र 11 साल के बुफे ने स्टॉक में इन्वेस्ट किया ? Biography of Warren Buffet in hindi

हलाकि , शेयर बाजार में इन्वेस्टमेंट कैसे करना है ? ये बात तो उनको बचपन से सिखाई जाती थी क्युकी उनके पिता उनको इसके बारे में बताते थे, जोकि खुदभि एक इन्वेस्टर थे ,  और साथ ही उनके घर में एक छोटा -सा लिएब्ररी था | जहा कई हज़ार किताबे राखी होती थी | जोकि बिज़नेस और इन्वेस्टमेंट से रिलेटेड होती थी |  वारेन बुफे को किताबे पढ़ने का इतना शौख  था की वह एक दिन में एक पूरी किताब पढ़ दिया करते थे | एक बार तो उन्होंने एक बुक को पढ़ते-पढ़ते सुबह कर दी थी | जिस पर की उनकी माँ ने उन्हें खूब डांटा था | वही से इन्वेस्टमेंट का ज्ञान लिए उन्होंने अपनी सेविंग के कुछ  पैसो  से सिटीज सर्विसेज के 3 शेयर खुदके लिए और 3 शेयर अपनी बहनो के लिए खरीद लिए | उसके बाद उन्हें इस इन्वेस्टमेंट से काफी फ़ायदा हुआ | और फिर मात्र 13 साल की उम्र में उन्होंने अपना पहला इनकम टैक्स रीटर्न जमा किया था |

Biography of Warren buffet in hindi
Source:- Facebook

कैसे मिले ग्रैहम से बुफे और कैसे ठुकराया  बुफे का प्रताव ग्रैहम ने? जानिए –

दरअशल वारेन बुफे जिनकी सबसे ज्यादा बुक्स पढ़ते  और अपने पिताजी से जिनकी सबसे ज्यादा तारीफ सुनते , वो थे बैंजामिन ग्रैहम | एक अद्धभुत इन्वेस्टर और काफी बारीकी नजर स्टॉक्स पे रखने वाले इंसान | वारेन अपनी पढाई को पूरा करने के बाद ग्रैहम को एक पत्र भेजते है ,  जिसमें की वह उनके साथ काम करने की तीव्र इच्छा जताते है | पर ग्रैहम इसे रिजेक्ट कर देते है |

जिस के बाद वारेन बुफे अपने पिताजी का बिज़नेस सँभालने वापिस अपने घर लौट आते है | यहां आने  बाद वह कई सारे सेल्समेन का जॉब भी करते है | पर वारेन बुफे अपनी ग्रैहम के साथ काम करने की इच्छा हमेशा अपने मन में रखते है और कई बार कोशिश करने के बाद वह सफल हो जाते है | और उन्हें ग्रैहम के साथ काम करने का मौका मिल जाता है | जहा उन्हें ग्रैहम के साथ काम करने के लिए 12000 डॉलर्स प्रति माह मिलते है | उनके साथ कई सालो तक काम करने के बाद , बुफे आप अपना बिज़नेस ओपन करते है |

कैसे बनाई अपनी पहली कंपनी ? Biography of Warren Buffet in hindi

ग्रैहम के साथ Graham-Newman Corp में Securities Analyst के तौर पे काम करने के बात , ग्राहम अपनी रिटायरमेंट की घोसणा कर देते है | जिस के बाद वारेन बुफे ग्राहम के कई मूल-मंत्र को लेकर अपना पहला कंपनी ओपन करते है , जिसका की नाम बुफे पार्टनरशिप लिमिटेड होता है |

दरअशल इस कंपनी का पहले काम कपडे बनाना होता है , जिसमे की वारेन  बुफे पहले सिर्फ अपने पैसे इन्वेस्ट करते ,  उसके बाद उन्हें उसी  कम्पनी के कुछ लोग स्टॉक में गलत प्राइस पर कुछ स्टॉक बेच देते है | जिससे बुफे काफी नाराज हो  है ,और फिर उस कंपनी के सबसे ज्यादा स्टॉक्स खरीद लेते है |

और फिर उस कंपनी के मालिक बन  जाते है | कंपनी का मालिक बनने के बाद उन्हें ये पता चलता है की ये कंपनी घाटे में जा रही है , जिसके बाद वह इस कमपनी को पुरे तरीके से दूसरे कम्पनियो में इन्वेस्ट करने वाला बना देते है |  और फिर यही से वह अपनी  बुद्धिमता से इस मुकाम पर पहुंचते है | इस कम्पनी में उनके परिवार वालो ने भी इन्वेस्ट किया , जिस से इस कमपनी ने बहुत प्रॉफिट कमाए , उसी प्रॉफिट से वारेन ने ओमाहा में अपना पहला पांच बेडरूम वाला घर लिया जहा पर वो आज भी रहते है |

अपनी बुद्धि से पैसे कमा कर ना केवल वह  खुद करोड़पति बने बल्कि कई लोगो भी बनाया | अब आती है करोड़पति से कैसे बने अरबपति ? तो हम आपको बता दे की जब उन्होंने वो कपडे वाली कमपनी खरीदी जिसका की नाम Berkshire Hathaway था , उस कंपनी ने उन्हें बनाया था अरबपति | क्युकी जब उन्होंने इस कमपनी को ख़रीदा तो सभी ने कहा की ये कंपनी खरीद बुफे बड़े घाटे में जाने वाले है , क्युकी उस समय कपडा का उद्योग काफी चरमरा सा गया था |

लेकिन बुफे हमेशा लॉन्ग टाइम  इन्वेस्टमेंट को तब्जो देते , जिसके चलते वह उस कंपनी के प्रॉफिट से  बने अरबपति | उसके बाद उन्होंने कईबड़ी बड़ी कम्पनियो में इन्वेस्टमेंट किये है | जैसे कोला , अमेज़न, टेस्ला , गूगल और भी कई कम्पनियो में |

Biography of Warren Buffet in hindi
Source:- Facebook

जानिए बुफे के बारे में सब कुछ जल्दी से – Biography of Warren Buffet in hindi

  • Full Name- Warren Howard Buffet
  • Nickname- Sage of Omaha
  • Profession- Investor
  • Father- Howard Buffet (Investor, Broker)
  • Mother-Leila Buffet (Teacher, Housewife)
  • Sisters-Doris Buffet , Roberta Buffet Elliot
  • Weight- 85kg (Approx)
  • Height- 5ft 10inch
  • Date of Birth- 30 August, 1930
  • Birthplace- Omaha, Nebraska , America
  • Zodiac- Sagittarius
  • Nationality- American
  • Hometown- Omaha,America
  • School- Rose Hill Elementary School, Elisa Deal Junior School, Washington
  • Qualification- Master of Science in economics in 1951
  • College- Columbia University
  • Religion- Agnostic
  • Hobbies- Read Book , Eat Food
  • Wife- Spouse- Susan buffet, Astrid Menks
  • Net Worth-  72 Billion (Approx)

वारेन बुफे के कुछ बहुत ही अच्छे विचार –

  • नियम नंबर 1 – कभी भी पैसा मत गंवाये. नियम नंबर 2 – कभी भी नियम न. 1 को मत भूलिए.
  • अपनी साख बनाने में 20 साल लग जाते है वही इसे गंवाने में बस 5 मिनट लगते है. अगर आप इस बारे में सोचोगे तो चीजे अलग तरीके से कर सकते हो.
  • अगर बिजनेस अच्छा होने लग जाता है तो स्टाक अपने आप अच्छे करने लगते है.
  • मार्केट में जो उतार – चढाव होते है उसे अपना दोस्त समझिये. दुसरो की मुर्खता का लाभ उठाये लेकिन इसका हिस्सा मत बनिए.
  • जब सब लालची बन जाते है तब हम डर के रहते है वही जब सब डर जाते है तब हम लालची बन जाते है.
  • मुझे हमेशा से यह यकीन था की मैं अमीर बनने जा रहा हूँ. मैंने कभी भी इस पर एक मिनट भी शक नहीं किया.
  • यदि कोई आज पेड़ की छाव में बैठा है तो इसकी वजह है की किसी ने बहुत समय पहले एक पेड़ लगाया हो.
  • केवल उसी चीज को खरीदिये जिसे आप अगले 10 साल तक ख़ुशी से रखेंगे
  • मैं शेयर बाजार से कभी भी पैसे बनाने की कोशिश नहीं करता. मैं इस सोच के साथ शेयर खरीदता हूँ की अगले दिन बाजार बंद हो जायेगा और अगले 5 साल तक नहीं खुलेगा.
  • जोखिम तब होता है जब आपको पता न हो की आप कर क्या रहे है

Biography of Warren Buffet in hindi
Source:- Facebook

कुछ बहुत ही इंटरेस्टिंग फैक्ट्स वारेन बुफे के बारे में – Biography of Warren Buffet in hindi

  • वारेन बुफे अपनी माँ से बहुत डांट कहते थे |
  • वारेन बुफे अपनी पढाई छोड़ना चाहते थे |
  • वारेन बुफे ने अपना पहला इन्वेस्टमेंट मात्र 11 साल की उम्र में ही किया था |
  • वारेन बुफे अपने टीचरो को अपना स्टॉक्स बेचा करते थे |
  • वारेन बुफे स्कूल के दिनों में काफी शरारते किया करते थे |
  • वारेन बुफे 16 साल के होते होते अपने टीचरो से ज्यादा अमीर हो गए थे |
  • वारेन  बुफे ने अपने जीवन में एकमात्र ई-मेल माइक्रोसॉफ्ट के जेफ्फ रैकेस को भेजा था |
  • वारेन बुफे आज  करीबन 5 से 6 घंटे किताबे पढ़ते है |
  • वारेन बुफे दिन में करीबन 5 बोतल कोका कोला पिलेते है |
  • वारेन बुफे के  99 प्रतिशत सम्पति उन्होंने अपने 50 वे जन्मदिन के बाद बनाई थी |
  • वारेन बुफे 2008 से 2010 तक दुनिया के सबसे अमीर हस्ती थे |
  • वारेन बुफे ने अपना दो तियाही यानि 25 अरब डॉलर का दान बिल और मिलिंडा फाउंडेशन को  दे दी था  | और वो दान दुनिया का सबसे बड़ा दान था |
  • वारेन बुफे के सबसे अच्छे दोस्त बिल गेट्स है |
  • वारेन बुफे ने 2006 में दूसरी शादी की , जबकि उनकी पहली पत्नी से उनको 3 बचे भी है |
  • वारेन बुफे  ने “बर्कशायर हैथवे” को 1964 में इसलिये खरीदा था ताकि वह इसके सीईओ को बर्खास्त कर सकें।
  • वारेन बुफे की 63 अरब डॉलर की संपत्ति लेबनान और आइसलैंड की कुल GDP के बराबर है।
  • वारेन बुफे  की एक दिन की औसत आय 37 मिलियन डॉलर है।
  • वॉरेन बुफे  को जंक फूड से बहुत प्यार है और वह 2,500 कैलोरी एक दिन में खाते है। उनका पसंदीदा खाना ‘चीज़बर्गर’ है जो कि वह कोक के साथ खाना पसंद करते हैं |
  • वारेन बुफे अपने मृत्यु के बाद अपनी सारी सम्पति समाज को दे जायेंगे |

वारेन बुफे के 6 रूल इन्वेस्टमेंट के ऊपर – Biography of Warren Buffet in hindi

1. Patience (धीरज)- आप मार्किट में टिकोगे की नहीं ये आपका धीरज ही तय करेगा , क्युकी बुफे बताते है जब शुरू में वह इन्वेस्ट करते तो उनके स्टॉक्स ने प्राइस काफी निचे आ जाते , जिसके बाद वह अपने स्टॉक्स को बेच देते | जिससे उन्हने काफी नुकशान होता , पर बाद में वही स्टॉक्स काफी ऊपर उठते थे | जिस देख  बुफे ने ये सिख ली की हमेशा धीरज रखो |

2. Savings ( पैसे बचाना )- बुफे अपने बचपन से ही पैसे बचाना सिख गए थे , और उसी पैसे को इन्वेस्ट कर , धीरे-धीरे वह उस सेविंग के पैसो को इन्वेस्ट कर अरबपति बन गए | सेव करोगे तो पैसे की वैल्यू कम होगी , इन्वेस्ट करोगे तो पैसे की वैल्यू बढ़ेगी | अमीर बनाने की नीव है पैसे को बचाना |

3.  Role model – आप कैसे लोगो को पसंद करते हो , उनके जैसे विचार कैसे लाते हो , ये आपको जल्द ही तय करने होंगे | इसिलए अपना एक रोले मॉडल चुने | बुफे के रोले मॉडल ग्राहम और उनके पिताजी थे|

4. passion (प्यार) – आप कभी उस चीज को करके करोड़पति नहीं बन सकते जो आपको करना पसंद ना हो | इसीलिए  अपने पैशन को चुनो |

5. Emotion – ये बात हमेशा याद  रखना की बिज़नेस और इन्वेस्टमेंट में सिर्फ दिमाग काम देता है ना की आपका इमोशन | तो इमोशनल  होके  कोई डिसिशन ना ले |

6. Undervalue – यानि की स्टॉक में हमेशा ध्यान रखे की जब स्टॉक की वैल्यू उसके ओरिजिनल वैल्यू से कम रहे तब आप स्टॉक्स ख़रीदे , और जब उसके दाम बढे तो उसे बेच दे | यही बड़े-बड़े इन्वेस्टर करते है |

आशा करता हु  की आपको हमारा ये पोस्ट पसंद आया हो और अगर आया है , कृपया एक कमेंट और एक शेयर जरूर करे | थैंक्स

और भी पोस्ट पढ़े – Biography of Warren Buffet in hindi

Anupjha

hello everyone i'm Anup i start my new career as blogger in 2020 i hope that you'll like my blog post. i want to say that i'll try to my best to get more information about my posts. thanks

Leave a Reply