सन्यासी से CM बनने तक की कहानी | Biography of CM Yogi Adityanath In Hindi
source-yogi adityanath Facebook

सन्यासी से CM बनने तक की कहानी | Biography of CM Yogi Adityanath In Hindi

Biography Of Yogi Adityanath In Hindi-

आदित्यनाथ आज न केवल उत्तर प्रदेश के एक दिग्गज नेता माने जाते है बल्कि वह आज पुरे भारत में अपनी “ एंग्री यंग मैन “ वाली छवि के लिए भी काफी प्रसिद्ध है | बड़े-बड़े फैसले लेते उन्हें ज्यादा-देर नहीं लगती और ये बात शायाद उत्तर प्रदेश के कई अपराधी समझ चुके होंगे |

शुरआत से ही योगी आदित्यनाथ देश के प्रति प्रेम और हिन्दू धर्म के प्रति अपना सम्मान दिखाते आये है | फिर चाहे वह उत्तर प्रदेश के मुख्मंत्री ही क्यों न बन गए हो आज भी वह अपना दिन गोशाला से ही शुरू करते है |

कैसे उत्तराखंड का लड़का अजेय बिष्ट बन जाता है योगी आदित्यनाथ ? ये आज आपको इस पोस्ट में पता चलेगा साथ ही उनके जीवन से जुड़े कई किस्से भी आज आप जानोगे | तो चलिए बिना किसी देरी शुरू करते है Biography of Yogi Adityanath in Hindi को |

शुरआती जीवन और परिवार

योगी आदित्यनाथ जिनका की असली नाम अजय मोहन बिष्ट है इनका जन्म 5 जून 1972 को उत्तरप्रदेश के पंचुर के पौरी गढ़वाल गाँव में हुआ जोकि आज उत्तरखंड में स्थित है |

एक सरकारी कर्मचारी के घर जन्मे योगी आदित्यनाथ अपने सात भाई-बहनों के बीच जन्मे 5वें नंबर के बच्चे थे | उनसे बड़ी उनकी तीन बहने और एक बड़ा भाई है साथ ही दो छोटे भाई भी है |

योगी आदित्यनाथ के पिताजी का नाम आनंद सिंह बिष्ट है जोकि शुरआत में तो एक सरकारी जंगल कर्मचारी होते है  फिर बाद में वह अपना यातायात का व्यापार खोल लेते है | पिता सरकारी कर्मचारी तो माताजी एक ग्रेह्नी होती है जिनका की नाम सावित्री देवी होता है |

बचपन में कैसे थे योगी आदित्यनाथ ?

सात भाई-बहनों के बीच जन्मे योगी शुरआत से ही एक सभ्य अवम सरल बच्चे रहे | जिन्हें अपनी माँ का ज्यादा प्यार तो नहीं मिल पता था क्युकी घर में और भी कई बच्चे थे | योगी को अपने बचपन से ही धर्मो-कर्मो की किताबे पढना काफी अच्छा लगता था | जिस वजह महज सात साल की छोटी सी उम्र में ही उन्होंने कई-धार्मिक किताबे पढ़ डाली थी |

सात भाई-बहनों के बीच जन्मे योगी में जो एक बात सबसे अलग दिखाई देती थी  वो थी की उन्हें दुसरे बच्चो के मुकाबले चीजे काफी जल्दी समझ आ जाती थी जिस वजह से अपनी उम्र के बच्चो से अलग दीखाई देते थे |

Narendra Modi Biography (Click Here)

पढाई-लिखाई में कैसे थे योगी आदित्यनाथ ?

जैसे की आप पहले ही ये जान चुके है धार्मिक किताबो के प्रति उनका लगाव बचपन से ही रहा है | पर इसका ये कतई मतलब नहीं है की योगी आदित्यनाथ अपनी स्चूली पढ़ाई में कमजोर थे या फिर उन्हें स्कूल की पुस्तक पढने कोई रूचि नहीं थी ऐसे नहीं बल्कि वह तो अपने स्कूल के  एक होनहार छात्र रहे है |

उनका दिमाग पढाई में इतना तेज था की वह किसी भी पढाई गई चीजो को नहीं भूलते  थे बल्कि उन्होंने अपने एक  इंटरव्यू यहाँ तक कहा नहीं की “ उन्हें आज भी अपने स्कूल के कई पुस्तकों के उत्तर याद है “ |

अपनी शुरआती पढाई ठंगर से शुरू कर वह अपने स्कूल के बेहद ही होनहार छात्र रहे साथ ही उन्हें गणित जैसे कठिन विषय को पढना काफी अच्छा लगता था |

उनके क्लास के कई बच्चे स्कूल के मास्टरजी से ट्यूशन ना लेकर योगी आदित्यनाथ से ट्यूशन लिया करते थे क्युकी योगी गणित विषय को इस तरह पढ़ाते थे की वह सबकी समझ में आसानी से आ जाता था |

अपनी शुरआती पढाई को पूरा करने के बाद  योगी आदित्यनाथ जोकि उन दिनों योगी ना होकर अजय बिष्ट होते है वह अपना एडमिशन गढ़वाल यूनिवर्सिटी में करा लेते है और फिर यहाँ से साल 1993 में अपना ग्रेजुएशन बी. अस . सि में पूरा कर आगे वह एक सन्यासी बन जाते है |

Biography of Yogi Adityanath In Hindi
source-yogi adityanath facebook

क्यों बने सन्यासी योगी आदित्यनाथ ?

वैसे उनका धर्म के प्रति लगाव किसी से छुपा नहीं है | बचपन से ही उनका मन अवम शरीर धार्मिक कामो में लगा रहा है | पर जब वह अपना ग्रेजुएशन पूरा कर लेते और अपनी आगे की पढाई के करने लगते है | वही उन्हें अपनी पढाई के एक रिसर्च के लिए  गोरखपुर आना होता है | यहाँ आने के बाद उनकी मुलाकात महंत अवैद्यनाथ से हो जाती है |

योगी महंत अवैद्यनाथ की बातो से काफी ज्यादा प्रभावित हो जाते है जिसके बाद अजय सिंह बिष्ट दुनिया की मोह-माया को छोड़कर एक योगी बन जाते है और यही से उनका नाम अजय सिंह बिष्ट से योगी आदित्यनाथ हो जाता है |

ये बात उनके माता-पिता को कई सालो तक नहीं पता चलती पर जब वह  एक योगी बन जाते है तो उनका पूरा मकसद सिर्फ और सिर्फ इतना ही होता है की वह ज्यादा से ज्यादा लोगो की सेवा कर पाए |

क्यों बने गोरखपुर के संसद?

गोरखपुर मंदिर में अपने गुरु महंत अवैद्यनाथ के साथ कई सालो तक रहने के बाद महंत अवैद्यनाथ जोकि एक  योगी के साथ-साथ गोरखपुर के संसद भी होते है वह अपना पूरा कार्य योगी आदित्यनाथ को देते है | इसके पीछे की वजह कई लोग उनका और महंत अवैद्यनाथ का रिश्ता भी बताते है | बताते चले की महंत अवैद्यनाथ भी उसी जहग से थे जाहे से योगी आदित्यनाथ आये थे इसी वजह से दोनों का रिश्ता चाचा-भतीजे का हुआ |

खैर बोलने वाले तो बोलेंगे पर जैसे ही योगी सता के गलियारों में उन्हें काफी कुछ पता चला उन्हें सता में आने का कोई मोह नहीं था बल्कि वह तो शुरआत में इसे लेने से भी मना कर रहे थे |

पर जब उनके गुरु ने उन्हें समझाया की आप इस सता से ना केवल लोगो की रक्षा करोगे बल्कि दोषियों को भी उचित दंड दिला सकते हो |

अपने गुरु की बात को मनाकर योगी अब राजनीती की दुनिया में अपना पहला कदम रख चुके थे जिसके बाद वह 1999 से लेकर 2014 तक गोरखपुर के संसद रहे उन्होंने किसी को भी अपने आगे टिकने ही नहीं दिया |

संसद बने के साथ ही योगी अब बीजेपी में भी सामिल हो चुके थे | तो ऐसे शुरू हुआ योगी आदित्यनाथ का राजनीति में सफ़र |

Amit Shah Biography (Click Here)

क्यों मरते-मरते बचे थे योगी आदित्यनाथ ?

जैसे ही योगी अपनी राजनीति में एंट्री करते है वैसे ही कई लोगो की नजार इनपर पड़ जाती है | वैसे भी योगी हमेशा किसी-ना किसी रैली या फिर किसी अन्दोल में दिख जाते है | ठीक वैसे ही जब उत्तर प्रदेश अपराधो की संख्या बढ़ने लगी |

आये दिन कोई ना कोई निर्दोष मारा जाता था जिसे देख योगी ने साल 2008 में एक एंटी-टेररिज्म रैली निकाने का प्लान किया | जोकि उस समय उत्तर प्रदेश की मोजूद सरकार स.पा के मुखमत्री श्री मुलायम सिंह जी के गाँव आजमगढ़ से निकालने वाली थी |

करीबन 40 गाडियों को लेकर योगी आदित्यनाथ चले तो जरूर मगर आजमगढ़ से पहले ही तकिया गाँव में ही उन पर एक जान लेवा हुम्ला हो गया जिसमे की कई निर्दोष को मारे गए |

योगी जी भी मारे जाते अगर वह अपनी गाड़ी को ना बदलते , दरशल हमलावर को ये खबर मिली थी की योगी गाड़ी नंबर सात में है मगर योगी अहम वक़्त पर गाड़ी एक में आ जाते है जिस वजह से हमवार उन्होंने ख़ोज नहीं पाते है और योगी जी बच जाते |

इसके बाद जब वह संसद में अपना भाषण देते है तो वह फूट-फूट कर रोने लगते क्युकी उन्हें लगता है की माजूदा सरकार उन्हें मरने का पर्यास कर रही है | बरहाल ! आज कई लोग उन्हें काफी कठोर मुख्मंत्री मानते है लेकिन इसके पीछे की वजह लोग जान ले तो उन्हें पता चल जाएगा | कई उन्हें जान से मार ने तक धमकी मिल चुकी है |

कैसे बने मुख्मंत्री योगी आदित्यनाथ?

इसके पीछे का किस्सा भी बड़ा ही रोचक है जी हां, साल 2014 में जब बीजेपी सता में आई जिसमे की उत्तर प्रदेश का बहुत ही बड़ा हाथ था उस जीत को जीतने में | और जब बात उत्तर प्रदेश की  हो तो उसमे योगी आदित्यनाथ नाम ना आये ऐसा हो ही नहीं सकते साल 2014 में योगी ने कई-कई जगह जाकर बीजेपी का प्रचार किया और इसी वजह से सता में बीजेपी आ पाई |

ठीक वैसे ही जब साल 2017 में  उत्तर प्रदेश में चुनाव हुए तो बीजेपी के सारे दिगज नेता इस चुनाव अपनी अपनी भोमिका निभाने लगे लेकिन जिस एक इंसान की वजह से बीजेपी उत्तर प्रदेश का चुनाव जीत पाई वो थे योगी आदित्यनाथ |

जी हां, यहाँ शायद एक बात आपको हैरान करे की बीजेपी के कई नेता ये जानते थे की उत्तर प्रदेश के अलगे मुख्मंत्री योगी ही होंगे लेकिन योगी को ये कतई नहीं पता था की बीजेपी उन्हें उत्तर प्रदेश का मुख्मंत्री बना देंगे |

मुख्मंत्री की शपथ लेने से कुछ दिनों पहले ही योगी को ये प्रधानमन्त्री मोदी जी ने बताया | जैसे ही योगी सता में वैसे ही गुंडाराज कहे जाने वाले उत्तर प्रदेश में गुंडों की सामत सी आ गई | अभी हाल ही में हुए विकाश दुबे विवाद तो आप सभी जानते ही होंगे |

काफी कठिनाइयो से गुजर कर आज योगी आदित्यनाथ यहाँ पहुचे है साथी आपने काम से उत्तर प्रदेश के लोगो का दिल जीत रहे योगी जी , उन बहुत ही कम मुख्मंत्रियो में से एक जिन्हें की सभी लोग पसंद करते है और उनकी बात ना केवल उत्तर प्रदेश तक ही सिमित रहती है बल्कि हर एक राज्य में वह एक चर्चा का विषय बने ही रहते है |

तो चलिए जल्दी से जान लेते है Yogi Adityanath के बारे में (Short Biography)

  • Full Name\Real Name- Ajay Singh Bisht
  • Nickname- Yogi Aditynath, Yogi Ji
  • Profession- Politician , Religion Missionary,Monk,Priest
  • Political Party- BJP(Bharatiya Janta Party)
  • Father- Anand Singh Bisht
  • Mother- Savitri Devi
  • Brother- 1 Elder Brothers and 2 Younger Brother
  • Sister- 3 Elder Sister
  • Age – 48( at 2020)
  • Birthplace- Panchur, Pauri Garwah, Uttarakhand
  • Hometown-Gorakhpur,Uttar Pradesh
  • Nationality- Indian
  • Zodiac – Gemini
  • Weight- 80Kg
  • Height- 5feet 4 inch
  • Date of Birth- 05 June, 1972
  • School- Primary School in Pauri,Uttarakhand
  • Qualification- Bachelor’s Degree in Mathematics(B.Sc)
  • College- Garhwal University,Uttarakhand
  • Religion- Hinduism
  • Caste- Kshatriya
  • Foodie Type-Vegetarian,
  • Marital Status – Unmarried
  • Hobbies- Badminton, Swimming, Feeding Animals
  • Net Worth- 40 To 45 Lakh

जानिए योगी आदित्यनाथ के बारे कुछ जबरदस्त बाते (Facts)

  • योगी आदित्यनाथ हिन्दू युवा संगठन के संस्थापक भी है
  • योगी आदित्यनाथ अपनी  M.sc की पढाई के दौरान ही एक सन्यासी बने थे |
  • योगी आदित्यनाथ पर 7 सितम्बर 2008 को उनके एक रैली के दौरान उनमें एक जानलेवा हमला हुआ था |
  • योगी आदित्यनाथ के आदेश पर ही गोरखपुर मंदिर  में होली और दिवाली एक दिन बाद मनाई जाती है |
  • योगी आदित्यनाथ को जानवारो से काफी प्यार है वह कई बार  बाघ के बच्चो को दूध पिलाते हुए दिखाई दे जाते है |
  • योगी आदित्यनाथ पांच उन अविवाहित मुख्यमंत्री में से एक जिनका की अब तक विवाह नहीं हुआ |
  • योगी आदित्यनाथ मात्र 26 साल की उम्र में ही  बन गए थे संसद |
  • योगी आदित्यनाथ अपने दोनों ही कानो में पहनते है कुंडल और गले में एक सोने का रुद्राक्ष भी पहनते है |
  • योगी आदित्यनाथ को गोरखपुर के लोग छोटे महाराजा कहकर बुलाते है | 

आशा करते है की आपको हमारा ये पोस्ट पसंद आया तो और आया है तो कृपया इस पोस्ट अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे | और अगर कोई कमी हो तो जरूर कमेंट करके बातये आपके एक कमेंट से हमारा पोस्ट और भी अच्छा हो सकता है | थैंक्स Biography of Yogi Adityanath in Hindi को पढ़ने के लिए |

Shraddha Kapoor Love Story (Click here)

 

Anupjha

hello everyone i'm Anup i start my new career as blogger in 2020 i hope that you'll like my blog post. i want to say that i'll try to my best to get more information about my posts. thanks

Leave a Reply