बुलाती है मगर जाने का नहीं कहने वाले | Poet Dr. Rahat Indori Biography in hindi 2020
Dr. Rahat Indori Biography in hindi

बुलाती है मगर जाने का नहीं कहने वाले | Poet Dr. Rahat Indori Biography in hindi 2020

Dr. Rahat Indori Biography in hindi

निवेदन:- पोस्ट में अगर कोई कमी हो तो जरूर बताना आपका एक Comment हमारे Post को और अच्छा कर सकता है  | …..

राहत इन्दोरी कौन है ?

राहत इन्दोरी भारत के उन चुनिंदा लोगो में से एक है जिनके शयारी के दीवाने करोड़ो लोग है | आज भले ही ये हमारे बीच न रहे हो पर , इनके कलम से लिखी हर वो बात आज भी हमारे दिलो में ज़िंदा है और हमेशा ज़िंदा रहेंगी | न केवल एक अच्छे शायर बल्कि एक बहुत ही प्रसिद्ध अध्यापक के रूप में भी लोग उन्हें हमेशा याद रखेंगे | अपनी कमल और जुवान से लाखो लोगो का दिल जीत चुके राहत इन्दोरी न केवल भारत में ही प्रसिद्ध थे बल्कि उनकी प्रसिद्धि तो देश हो चाहे विदेश हो हर एक जगह बहुत ही ज्यादा मात्रा में हुआ करती थी और आज भी है | तो आज हम इसी महान शायर और एक ज़िंदा दिल इंसान यानि की राहत इन्दोरी के जीवन के बारे में जानेगे |  उनके जीवन के शुरआत से लेकर उनके कुछ बहुत ही प्रसिद्ध शायरी को आज हम जानेगे | तो चलिए ज्यादा देरी न करते हुए शुरू करते है  Dr. Rahat Indori Biography In Hindi को |

शुरआती जीवन और परिवार

विश्व प्रसिद्ध डॉ. राहत इन्दोरी का जन्म 1 जनुअरी 1950 को आजाद भारत के मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में हुआ था | इन्दोरी शाहब एक बहुत ही साधारण मुस्लिम परिवार में पैदा हुये थे | उनके पिताजी रफ्तुल्लाह कुरैशी एक साधारण से कपडा मील में काम किया करते थे , जहा वह अपनी छोटी-सी कमाई से  अपने पुरे परिवार का पेट पाल रहे थे | इन्दोरी शाहब की माताजी का नाम मकबूल उन निशा बेगम था , जोकि एक ग्रहणी हुआ करती थी | साथ ही इन्दोरी शाहब के भाई-बहनो की बात की जाये तो उनका एक बड़ा भाई अकील और एक छोटा भाई आदिल था , इन्दोरी शाहब की दो बड़ी बहने भी थी , जिनसे की उन्होंने शुरुआती उर्दू सीखा और कला  के विषय में भी ज्ञान लिया | उनकी दो बड़ी बहनो के नाम कुछ इस प्रकार है तहजीब और तक़रीब |

Shahrukh Khan Biography In Hindi (Click Here)

कुरैशी से इन्दोरी कैसे बने राहत इन्दोरी ?

वैसे अब आप ये तो जान चुकी ही होंगे की इन्दोरी शाहब का मूल-भुत जीवन इंदौर के ही गलियारों से शुरू हुआ | जहा उनके अंदर का शायर काफी सालो तक , बाहर ना पाया | लेकिन जैसे ही उनके अंदर का शायर बाहर आना शुरू हुआ , ठीक वैसे ही इंदौर के गालिओ में जो एक नाम हर जगह दिखने लगा वो था | हमारा इन्दोरी शायर , और शायद इसी वजह से इन्दोरी शाहब ने भी खुदको हमेशा इन्दोरी माना है | वो खुद इस बात को काबुल करते है की आज मैं या कोई और जो कुछ भी  अपने जीवन में प्राप्त करता है उसकी शुरआत उसके जन्म स्थान से ही होती है | और वैसे भी इंदौर ने मुझे बहुत कुछ दिया है  | जिस वजह इंदौर मेरे दिलके हमेशा करीब रहा है | और सच कहु , मुझे कभी पता ही नहीं चला की मैं कब राहत कुरैशी से राहत इन्दोरी बन गया | शायद इसी का नाम प्रसिद्धि है |  और मुझे काफी खुशी भी होती है की जब भी कभी इंदौर शहर का ज़िर्क होता है तो उस ज़िर्क में मेरा एक छोटा-सा नाम भी आता है | ये मेरे इंदौर और मेरे भारत की पहचान है |

Yogi Adityanath Biography (Click Here)
Dr. Rahat Indori Biography in hindi
source-Dr. Rahat Indori Facebook

पढाई-लिखाई में कैसे रहे है इन्दोरी साहब ?

इस बात में तो कोई शक-और-शुबा है ही नहीं की राहत इन्दोरी साहब जैसे एक प्रसिद्ध शायर , जिनकी जुबान और कमल से मोती बरसते थे | वो कोई एक मामूली से छात्र रहे हो , नहीं ऐसा नहीं है | बल्कि राहत इन्दोरी साहब तो शुरआत से ही अपनी पढ़ाई में काफी अच्छे रहे है | बात तो यहाँ तक निकल कर आती है की जब उनके बड़े भाई को पढ़ाई में कोई दिक्कत आती थी तो राहत साहब खुद उस दिक्कत का समाधान सबसे पहले ढूंढ लेते थे | साथ ही उन्हें पढ़ाई के बाद जिस एक  चीज से सबसे ज्यादा लगाव था , वो था कला चित्र जिसमें की वो इतने माहिर हो गए थे की फिल्मो तक के कवर वो खुद डिज़ाइन कर दिया करते थे | और आज भी आपको इंदौर शहर में काफी जगह उनके डिज़ाइन किये गये कला चित्र देखने को मिल जाएंगे | साथ ही आपको ये भी बताते चले की बचपन में जब राहत साहब  मात्र 8 से 9 साल के ही हुआ करते थे तो वह अपने परिवार को सपोर्ट देने के लिए इसी कला चित्र की कला से कुछ पैसे ही कमाया करते थे |

और अगर उनके पढाई-लिखाई की बात की जाए तो राहत इन्दोरी साहब ने अपनी शुरआती शिक्षा से लेकर अपनी पूरी शिक्षा इंदौर में रहकर ही पूरी की | उन्होंने 1973  में इस्लामिया करीमिया कॉलेज इंदौर से अपनी ग्रेजुएशन को पूरा किया और फिर उसके बाद 1975 में बरकत उल्लाह विश्वविद्यालय भोपाल से उर्दू साहित्य में एम् ए किया |और  इसके बाद बतौर एक उर्दू प्रोफेसर बनने का सपना लिए उन्होंने साल 1985 में मध्य प्रदेश भोज मुक्त विश्वविद्यालय से उर्दू साहित्य में पीएचडी की डिग्री हासिल की। अपनी पीएचडी डिग्री को पूरा करने के बाद उन्होंने कई सारे विश्वविद्यालय  में उर्दू प्रोफेसर के रूप में भी कार्य किया है | जहा  उनके  स्टूडेंट हमेशा ये कहते थे की इन्दोरी सर जैसा कोई और नहीं |

Narendra Modi Biography (Click Here)

शायर कैसे बने राहत इन्दोरी साहब ?

वैसे आपको ये जानकार काफी हैरानी होगी की इतने मशहूर शयार राहत इन्दोरी साहब को अपनी शुरआती लाइफ में शेरो-शायरी से कोई ज्यादा लगाव नहीं था | बल्कि उन्हें तो एक कला चित्रकार बनना था | लेकिन कहते है न की जैसे जैसे आपकी उम्र बढ़ती है आपकी रुचिया भी बदल जाती है | ऐसा ही ठीक उनके साथ भी हुआ जब उन्हें शेरो-शायरी को पढ़ना अच्छा लगने लगा | जिसके बाद उन्होंने अपने दोस्तों के बीच शेरो-शायरी करना शुरू किया जहा उनके सभी दोस्तों ने उनकी खूब तारीफे की  और फिर यही से राहत साहब को भी शेरो-शायरी लिखने का शौख चढ़ गया | और फिर उसके बाद महज 19 साल की उम्र से ही राहत साहब  लोगो के बीच शेरो को सुनाया करते और बहुत सारे तालियों की गडग़हाट को अपने दिलो में लेकर वहा से दूसरी जगह जाया करते थे जहा उन्हें उस से भी ज्यादा तालिया मिला करती थी | ऐसे ही करते करते राहत साहब मात्र एक से डेढ़ साल में राहत कुरैशी से राहत इन्दोरी बन गये | और फिर क्या था उसके बाद से उन्हें न केवल भारत बल्कि भारत के बाहर से भी लोगो ने बुलाना शुरू कर दिया | और फिर यही से राहत इन्दोरी साहब पुरे विश्व भर में प्रसिद्ध हो गये |

Dr. Rahat Indori Biography in hindi
Dr. Rahat Indori Biography in hindi

डॉ राहत इन्दोरी साहब केवल ही क्षत्र में माहिर नहीं थे

डॉ राहत इन्दोरी साहब न केवल एक शायर थे बल्कि वह एक गीतकार , एक ग़ज़लकार और  एक पुस्तक लेखक भी थे  | यहाँ हम आपको उनके द्वारा लिखी कुछ पुस्तकों के नाम और उनके कुछ बहुत ही प्रसिद्ध ग़ज़ल और आखिर में उनके द्वारा लिखी कुछ बहुत ही लोकप्रिय शायरी भी बताने जा रहे है |

Amit Shah Biography (Click Here)

 

डॉ. इन्दोरी द्वारा लिखी कुछ पुस्तके

  1. Rut
  2. Do Kadar or Sahi
  3. Mere baad
  4. . Dhoop Bahut Hai
  5. Chand Pagal Hai
  6. Maujood
  7. Naraz

 

कुछ गज़ले डॉ. इन्दोरी साहब द्वारा लिखी गई

  1. जो मेरा दोस्त भी है , मेरा हमनवा भी है
  2. बुलाती है मगर जाने का नहीं
  3. ये हादसा तो किसी दिन गुज़रने वाला था
  4. रोज़ तारों को नुमाइश में खलल पड़ता हैं
  5. वफ़ा को आज़माना चाहिए था

 

कुछ बहुत ही लोकप्रिय शायरियाँ

  1. फकीरी पे तरस आता है
  2. बहुत हसीन है दुनिया
  3. मैं बच भी जाता तो…
  4. अंदर का ज़हर चूम लिया
  5. मोड़ होता है जवानी का सँभलने के लिए

कुछ बहुत ही प्रसिद्ध गाने उनके द्वारा लिखे 

Dr. Rahat Indori Biography in hindi
Dr. Rahat Indori Biography in hindi

डॉ राहत इन्दोरी जी मृत्यु कैसे हुई ?

तो जैसे की आपको पता ही है की आज पुरे विश्व भर में खासकर की भारत में कोरोना कर संक्रमण कितना बढ़ गया है |  दरअशल पिछले कुछ महीनो से राहत इन्दोरी साहब भी अपनी हेल्थ की समस्या से लेकर काफी परेशान थे | जिस वजह जब उन्हें कोरोना के संक्रमण अपने अंदर नजर आने लगे तो उन्होंने अपना इलाज इंदौर के औरोबिन्दो हॉस्पिटल में कराया जहा उन्हें डॉक्टर ने ये कहा की आपके फेफड़ो में निमोनिया हो गया है | जिस वजह आपको थोड़ा सतर्क रहना होगा | लेकिन उसी के कुछ समय  बाद उन्हें पहला हार्ट अटैक आया , जिसे कैसे भी करके डॉक्टर्स ने उन्हें बचा लिया | लेकिन उसी हार्ट अटैक के कुछ समय बाद महज 2 घंटे बाद ही उन्हें दूसरा हार्ट अटैक आया जिसमें  की वह खुदको बचा नहीं पाए और उनकी मृत्यु हो गई | हम सभी उनके चाहने वाले भगवान् से यही प्राथना करते है की भगवान् उनकी  आत्मा को शांति दे | और उनके लफ्जो को को भी जन्नत में उतना ही आदर मिले | इसी के साथ अब हम आपसे विदा चाहेंगे और उम्मीद करेंगे  की अगर आपको हमारा Dr. Rahat Indori Biography In Hindi ये  पोस्ट अच्छा लगा हो तो जरूर इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे और साथ ही एक एक प्यारा सा कमेंट भी जरूर करेंगे | तो बहुत बहुत धन्यवाद आपका Dr. Rahat Indori Biography In Hindi पोस्ट को पढ़ने के लिए |

Dr. Rahat Indori Biography in hindi
Dr. Rahat Indori Biography in hindi

तो चलिए जल्दी से जान लेते है Dr. Rahat Indori के बारे में (Short Dr. Rahat Indori Biography In Hindi)

  • Full Name\Real Name- Dr. Rahat Qureshi
  • Nickname- Dr. Rahat Indori, Indori
  • Profession- Lyricist, Poet,Pedagogist
  • Age – 70 (At Present)
  • Birthplace-Indore, India
  • Hometown- Indore,Madhy Pradesh,India
  • Nationality- Indian
  • Zodiac – Capricorn
  • Weight- 75Kg
  • Height- 5feet 7 inch
  • Date of Birth- 01 January, 1950(Sunday)
  • School- Nutan School of Indore
  • Qualification- MA in Urdu Literature and Ph.D In Urdu Literature
  • College- Islamia Karimia College, Barkatullah University Bhopal, Bhoj University
  • Religion- Islam
  • Caste- Muslim
  • Foodie Type- Non-Vegetarian
  • Wife- Seema Rahat
  • Son-Faisal Rahat,Saltaj Rahat
  • Daughter-Shibli Rahat,Sameer Indori
  • Marital Status – Married
  • Hobbies-Painting and Travelling
  • Net Worth- 10 to 15 Crore
  • Fees Per Show -2-3 lac
और भी पोस्ट पढ़े (Click Here)

Anupjha

hello everyone i'm Anup i start my new career as blogger in 2020 i hope that you'll like my blog post. i want to say that i'll try to my best to get more information about my posts. thanks

Leave a Reply