वो शक्श जिसने कांग्रेस को मजबूत किया था | Congress Party Spokesperson Rajiv Tyagi Biography in Hindi
source-Rajiv Tyagi Facebook

वो शक्श जिसने कांग्रेस को मजबूत किया था | Congress Party Spokesperson Rajiv Tyagi Biography in Hindi

Rajiv Tyagi Biography in Hindi

हेलो दोस्तों ! आज बड़े ही दुःख के साथ कहना पड़ रहा की सत्ता दाल और टीवी मीडिया हम पर इतना ज्यादा हावी हो चूका है की अब ये लोगो की जान भी ले रहा है | हाल ही में एक बहुत बड़ा उदाहरण हमारे सामने आया है | जहा कांग्रेस दल के एक बहुत ही अच्छे प्रवक्ताओ में अपना नाम शामिल कर चुके राजीव त्यागी जी की मृत्यु बुधवार शाम को साढ़े छे बजे के करीब हो गई | जब वह किसी चैनल के टीवी डिबेट से निकल रहे थे की तभी उन्हें सीने में दर्द का अहसास हुआ और फिर अस्पताल पॅहुचते पहुंचते तक उनकी मृत्यु हो गई | भगवान् उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे |

Shahrukh Khan Biography In Hindi (Click Here)

राजीव त्यागी कौन थे ?(Who was Rajiv Tyagi?)

राजीव त्यागी कांग्रेस एक बहुत ही अच्छे प्रवक्ताओ में से एक रहे है | साथ ही राजीव त्यागी जी की डिबेट देखने के लिए लोग आँखे पसारे रहते थे | उनकी भाषा सेली के लोग खासे दीवाने थे | और जो एक बात उन्हें सबसे अलग बनती थी वो थी उनकी निडरता | जी हां , राजीव त्यागी जब भी किसी डिबेट में शामिल होते तो वह हर पार्टी दाल के नेता से अकेले भिड़ने का दम रखते थे | और साथ में उनके शायराना अंदाज को कौन भूल सकता है | जहा वह अपनी शायरी से आम लोगो के मुद्दे उठाया करते थे |  राजीव त्यागी जी एक प्रवक्ता होने के साथ-साथ एक बहुत ही अच्छे इंसान भी थे | जिस वजह से उनकी मृत्यु की खबर मिलते ही , न केवल उनकी पार्टी ही उन्हें शोक प्रकट कर रही है बल्कि और भी जितनी पार्टीया है वो भी उन्हें और उनके पुरे परिवार को शोक प्रकट कर रही है |

Yogi Adityanath Biography (Click Here)

राजीव त्यागी जी का जन्म 20 जून 1970 को दिल्ली से सटे ग़ाज़ियाबाद में हुआ | जहा राजीव त्यागी ता-उम्र अपने ज़मीन से जुड़े शक्श बने रहे | उन्होंने कभी-भी अपनी जन्म भूमि नहीं  छोड़ी , साथ ही वह अपने आखिर समय तक अपने पुरे परिवार के साथ ग़ाज़िबाद में स्थित उनके अपने माता-पिता के द्वारा बनाये हुए घर में रहा करते थे | और अगर उनके बचपन की बात की जाए तो आपको जानकर हैरानी होगी की , राजीव त्यागी जी को शुरुआत से ही राजनीती में ग़हरी रूचि रही है | जहा  उनको अपने मोहल्ले में शुरआत से ही छोटे-छोटे मुद्दे पर बोलना पसंद था | इसी वजह उनके मोहल्ले के लोग उन्हें हमेशा ये कहते रहते थे की राजीव बड़ा होकर जरूर नेता बनेगा | और ये भी कहते थे की राजीव तुम बिल्कुल सुभाष चंद्र जैसे हो | क्युकी राजीव भी सुभाष चंद्र बोस की ही तरह अन्याय सेहन नहीं कर पाते थे | और जहा तक उनके पढाई-लिखाई की बात करे तो , राजीव जी ने अपनी शुरआती पढाई ग़ाज़ियाबाद से ही प्रांरभ की , जिसके बाद अपनी ग्रेजुएशन के द्वारां ही  वह कई सारे आंदोलनों से जुड़ने लगे , जिस वजह  उन्हें कई बार जेल भी जाना पड़ा | राजीव त्यागी अपने पुरे जीवन काल में पांच बार जेल जा चुके है |  जिसके बाद फिर उन्होंने अपनी पढाई MBA की डिग्री लेकर ख़त्म की |

Amit Shah Biography (Click Here)

दरअशल राजीव त्यागी जी को तो वैसे ही अपने शुरआती जीवन से एक अच्छा वक्ता होने की आदात लग चुकी थी | जिस वजह वह अपने स्कूल से लेकर कॉलेज तक पॉपुलर हुआ करते  थे | लेकिन उन्हें एक अलग पहचान साल 1999 में मिली जब वह उस वक्त के भारत के प्रधानमंत्री श्री अटल विहारी वाजपेयी जी जब  शिखेरा गांव जा रहे थे | तब राजीव त्यागी जी ने उनका विरोध करते हुए उनके सामने काले झंडे दिखाए | जिसके बाद से ही राजीव त्यागी जी को लोग जानने लगे |   उसके बाद कई सारे आंदोलनों में शामिल होने बाद , आखिरकार कांग्रेस ने उनके कौशल को देखा और साल 2006 में उन्हें कांग्रेस में बतौर एक साथी के रूप में शामिल किया | जिसके बाद से ही राजीव त्यागी जी ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और हमेशा अपनी पार्टी का पक्ष बखूबी से जनता के सामने रखा |

Chahal Love Story (Click Here)

आज से करीबन दो साल पहले ही कांग्रेस ने अपने दस नए प्रवक्ताओ की लिस्ट तैयार की जिसमें की उन्होंने राजीव त्यागी जी को सबसे ऊपर वाले स्थान पर रखा | और  फिर यही से जब राजीव त्यागी जी टीवी पर दिखने शुरू हुए तो , उन्होंने अपने बोलचाल से ही लाखो लोगो का दिल जीता | क्युकी अक्सर देखा गया था  की आम लोगो की  समस्या दूसरे प्रवक्ता लोग अच्छे से नहीं रख पाते थे | जिस वजह से राजीव त्यागी जी ने जब यह काम किया , तो उनके डिबेट में जाने की डिमांड बढ़ने  लगी और आज उसी डिबेट के चलते | राजीव त्यागी जी को अपने प्राण गवाने पड़े | साथ ही आपको ये भी बताते चले की राजीव त्यागी जी दिल के इतने अच्छे थे की वह अपने विरोधियो को भी अपने आम के बगीचे के आम खिलाया करते थे | 

आखिर क्या हुआ था उस टीवी डिबेट के बाद ?(What happened after that TV debate?)

तो जैसे की आपको पता होगा की उस टीवी डिबेट के दौरान उन्हें बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा जी उन्हें ” जयचंद” कहते है जिसका की मतलब एंटी नेशनल होता है , साथ ही उनके “टिका” पर भी सवाल उठा दिया | खैर ! जब कोई व्यक्ति किसी डिबेट में बैठता है तो उस डिबेट के दौरान ही उसका  बीपी पहले से ही हाई हो जाता है | यही कुछ उस टीवी डिबेट के दौरान राजीव त्यागी जी के साथ भी हुआ , जब वह उस टीवी डिबेट को अपने ही घर से अटेंड कर रहे थे तो उसी डिबेट के ख़त्म ने के बाद उनकी पत्नी उनके कमरे में आई , जिसके बाद राजीव त्यागी जी ने उन्हें अपनी हालात बिगड़ती हुई बताई , जिसके तुरंत बाद ही राजीव त्यागी जिस कुर्सी पर बैठे हुए थे , उस कुर्सी से निचे गिर गए और फिर उनका बेटा धनंजय आया उसने अपने पड़ोस के डॉक्टर को बुलाया जिसके बाद फिर डॉक्टर ने सीपीआर (Cardiopulmonary resuscitation) दिया , और उन्हें जल्दी से अस्पताल ले जाने को कहा , जिसके बाद उनके परिवार के कुछ 6 बज कर 10 मिनट पर ग़ाज़ियाबाद के ही यशोदा अस्पताल पहुंचे ,और फिर वह उन्हें डॉक्टर्स ने ICU(Intensive Care Unit) में भर्ती किया , और कुछ सीपीआर भी दिया लेकिन तब तक बहुत ही ज्यादा देर हो चुकी थी |

और भी पोस्ट पढ़े (Click Here)
Narendra Modi Biography (Click Here)

Anupjha

hello everyone i'm Anup i start my new career as blogger in 2020 i hope that you'll like my blog post. i want to say that i'll try to my best to get more information about my posts. thanks

Leave a Reply