शिव नाडर जीवन परिचय | The Success Story of HCL | Shiv Nadar Biography In Hindi

शिव नाडर जीवन परिचय | The Success Story of HCL | Shiv Nadar Biography In Hindi

Shiv Nadar Biography

नमस्कार दोस्तों ! क्या आपको पता है की सफलता के पाने के लिए सबसे जरूरी चीज क्या है ? तो वो है सपने , जी हां ,दोस्तों सबसे जरूरी जो चीज है वो है आपके सपने जोकि ये निर्धारित करते है की आपके लक्ष्य क्या है ? और जैसे ही आपको आपका लक्ष्य मिल जाता है , उसके बाद आप सफलता से बस एक कोष ही दूर रहते हो | तो सबसे पहले सपने देखे क्युकी ये आपको आपका लक्ष्य बताएँगे और फिर जब  आपको आपका लक्ष्य मिल जाए तो उस लक्ष्य को हासिल करने के लिए अपनी पूरी जी-जान लगा दीजिये | आपका लक्ष्य आपको जरूर मिल जाएगा , ऐसा कहना है भारत के महान उद्योगपतियों में से एक श्री शिव नाडर का | जोकि HCL  कंपनी के संस्थापक और पूर्व चेयरमैन रहे है | शिव नाडर उन गिने चुने लोगो में से एक है जिन्होंने भारत में सबसे पहले टेक्नोलॉजी कंपनी की शुरआत की ,  जिनका ये मानना था अगर भविष्य में भारत को आगे रहना है तो उसे टेक्नोलॉजी में भी आगे रहना होगा | अपने सटीक फैसले और दूर-दृष्टि के लिए जाने-जाने वाले शिव नाडर आज भारत के छठे  सबसे रईस व्यक्तियों में से एक है जिनकी कुल सम्पति अरबो-खरबो की है | शिव नाडर का जीवन हर एक व्यक्ति के लिए प्रेणना का श्रोत बन सकता है , और इनके जीवन से काफी कुछ सीखा जा सकता है | तो चलिए अब बिना ज्यादा देरी किये हुए जानते है Shiv Nadar Biography को |

शुरआती जीवन और परिवार (Shiv Nadar Starting Life and Family)

शिव नाडर जिन्हे की पूरी दुनिया HCL के फाउंडर के नाम से जानती है , इनका जन्म 14 जुलाई 1945 को तमिल नाडु के एक शहर थिरुचांदुर में हुआ | जहा शिव नाडर एक हिन्दू परिवार में जन्मे अपने माता पिता के सबसे पहले बालक हुए , तो वही उनका एक छोटा भाई भी है जिनका की नाम एस एन बालकृष्ण है जोकि शिव नाडर यूनिवर्सिटी में पढ़ाते है | शिव नाडर के पिताजी का नाम सिवासुब्रमनिया नाडर है जोकि एक प्राइवेट कंपनी में जॉब किया करते थे | तो वही इनकी माताजी का नाम वामसुन्दरी देवी है , जोकि एक ग्रहणी एवं समाज सेविका रही |

Dhirubhai Ambani Biography (Click Here)

शिव नाडर की पढाई-लिखाई (Shiv Nadar Education)

शिव नाडर जिनकी आज खुद की एक यूनिवर्सिटी है जिसका की नाम Shiv Nadar University है , आप शायद इस बात को न माने की शिव नाडर को उनकी शुरआती लाइफ में पढ़ना-लिखना पसंद बिल्कुल भी पसंद नहीं , बल्कि उन्हें तो खेल-कूद या फिर संगीत सुनना ही पसंद हुआ करता था | लेकिन जैसे जैसे वो बड़े हुए तो उनकी रूचि पढाई की तरफ कुछ ज्यादा ही होने लगी , जिसके कारण जब उन्होंने अपनी शुरआती पढाई कुम्बकोनन टाउन स्कूल से की , जिसके बाद फिर इन्होने अपना दाखिला The American College में लिया , जहा से फिर इन्होने अपनी Pre-University की पढाई पूरी और फिर आगे चलकर इन्होने अपना एडमिशन PSG कॉलेज कोइम्बटोर में कराया और फिर यहाँ से शिव नाडर ने अपनी इंजीनियरिंग और इलेक्ट्रॉनिक्स की डिग्री हासिल की | जहा आज कई लोग सिर्फ छोटी-छोटी चीजों के न होने के चलते नाराज हो जाते है तो वही शिव नाडर ने अपनी लगन और मेहनत से अपने सपने को सच कर दिखाया | इसके बारे में जाने  आगे की कैसे एक सपना आपको बड़ा बना सकता है ?

शिव नाडर के करियर की शुरआत (Shiv Nadar Career and HCL Success Story)

शिव नाडर ने जैसे ही अपनी इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की उसके बाद से ही उन्होंने अपने करियर की शुरआत कर दी | जिसके लिए उन्होंने मुंबई के पुणे को चुना और यहाँ से ही अपने करियर की शुरआत वर्ष 1967 में शुरू की , उन्होंने अपने करियर की शुरआत  पुणे में स्थित एक कूपर कंपनी से शुरू की , जहा उन्हें काफी अच्छे खासे पैसे मिल जाया करते थे , लेकिन शिव नाडर का बचपन से ये सपना रहा था की वो एक दिन अपनी एक कंपनी की शुरआत करेंगे लेकिन इसके लिए उन्होंने सबसे पहले मार्किट को जानने का सोचा और फिर अलग-अलग कंपनी में भी काम किया |

खैर पुणे में काम करने के बाद शिव नाडर बहुत ही जल्द दिल्ली आ गए  जहा उन्होंने Delhi Cloth Mills में काम किया | और फिर यहाँ से ही उनकी ज़िन्दगी बदल गई क्युकी उन्हें यहाँ अपने ही जैसे कुछ लोग मिले जोकि अपना एक बिज़नेस शुरू करके के बारे में सोच रहे थे | शिव नाडर की यहाँ सबसे पहले मुलाकात अजय चौधरी से हुई जोकि आगे चलकर HCL  के चेयरमैन भी बने थे | और फिर एक दिन जब शिव नाडर अपने  ऑफिस लंच कर रहे थे उन्होंने देखा की कई यंगस्टर अपने बिज़नेस के बारे में बात कर रहे थे | जिसे  देखने के बाद शिव भी उनके साथ हो गए |

और फिर उन्होंने अपने छे दोस्तों अपने कंपनी के बारे में बताया जिसे देखने के बाद वो सब भी इसके लिए तैयार हो गये और फिर उन्होंने साल 1975 में अपने छे दोस्तों के साथ अपनी नौकरी छोड़ दी और फिर अपनी कंपनी की शुरुआत की जिसका की नाम मिक्रोकप था | ये  कंपनी टेली डिजिटल कैलकुलेटर बनाया करती थी | जिसे की इन्हे काफी फ़ायदा हो जाता था | लेकिन शिव नाडर आने वाले भविष्य के लिए कुछ करना था , जिसके  लिए उन्होंने एक सपना देखा की हिंदुस्तान अपने कम्प्यूटर्स बना रहा है और उन्हें लोगो को दे रहा |

और हां , आपको शायद ये बात जानकर हैरानी होने वाली है की जिस वक़्त उन्होंने खुदके कम्प्यूटर्स बनाने का सपना देखा था उस वक़्त भारत में सिर्फ 200 ही कंप्यूटर मौजूद थे जोकि विदेशो से आये थे | लेकिन जब सपने बड़े हो चुनौतियां कैसे छोटी हो सकती है ? इसी को ध्यान में रखकर शिव नाडर ने अपने साथियो के साथ मिलकर एक और नयी कंपनी शुरू करके का प्रस्ताव रखा जिसे फिर उनके साथियो ने भी इसके लिए अपनी हामी भरी , और फिर कुछ इन्वेस्टर की तलाश की लेकिन उन्हें उस वक़्त कोई भी इन्वेस्टर नहीं मिला और फिर इसी को देखकर उन्होंने अपनी पहली कंपनी Microcomp बेच दी |

और फिर उसे जो पैसे मिले उसे शिव नाडर और उनकी टीम ने HCL की शुरुआत की  , जिसका की पूरा नाम हिंदुस्तान कंप्यूटर लिमिटेड है , इस कंपनी की शुरआत 11 अगस्त 1976 को हुआ | और मार्किट में आने के बाद से ही इस कंपनी ने अपना दबदबा बनना शुरू कर दिया | लेकिन ऐसा नहीं था की इस कंपनी के सामने चुनौतियां नहीं आई , बल्कि बहुत बड़ी चुनौतियों का सामना करना पड़ा इस कंपनी को लेकिन इस कंपनी ने कभी भी उन चुनौतियों के सामने घुटने नहीं टेके और आगे बढ़ती रही | साल दर साल ये कंपनी उचाईयो को छूती रही , और आगे बढ़ती रही | और अगर आज इस कंपनी की बात करे तो आज ये कंपनी सलाना 32 हजार करोड़ का टर्नओवर करती है जोकि इस बात को साबित करती है की भारत की सबसे बड़ी आईटी कंपनी HCL ही है और आने वाले टाइम में भी रहेगी | तो देखा की कैसे एक बड़ा सपना असल में हक्कित बनकर आपके सपने है |

शिव नाडर की पर्सनल लाइफ (Shiv Nadar Personal Life)

अगर हम शिव नाडर के पर्सनल लाइफ के बारे जाने तो हमे पता चलेगा की शिव नाडर जितने ही अच्छे बिजनेसमैन है , वो उसे भी कई अधिक एक अच्छे पति , पिता और सामाज सुधारक भी है | जहा उन्होंने साल 1979-80 के दौरान किरण नाडर से शादी की जिसे की उन्हें एक प्यारी सी और कहे तो ब्यूटी विथ ब्रेन वाली बेटी को जन्म दिया | जिनका नाम रोशिनी नाडर है , वो अब HCL कंपनी की नयी चेयरमैन है |  शिव नाडर न केवल उद्योग को लेकर ही ज्यादा सार्थक रहते है बल्कि उन्हें आने वाले भारत के बच्चो के बारे में काफी चिंता है जिसके लिए उन्होंने साल 2011 में अपने ही नाम से एक यूनिवर्सिटी की शुरआत की जिसका की नाम शिव नाडर यूनिवर्सिटी है जहा आज के आने वाले भारत के भविष्य को बनाया जा रहा है | खैर इसकी जानकारी आपको गूगल पे मिल जायेगी | तो काफी प्रेणना से ओत-प्रोत करने वाला रहा ये आर्टिकल जहा हमने शिव नाडर जोकि एक आम इंसान होकर भी , जिन्होंने इतनी बड़ी कंपनी की रचना कर दी | वकाई ये उनकी और उनकी टीम की मेहनत का ही परिणाम है , जिसके कारण ही आज HCL भारत की नंबर एक कंपनी है |

Ratan Tata Biography (Click Here)

तो चलिए जल्दी से जान लेते है Shiv Nadar के बारे में (Short Shiv Nadar Biography)

  • Full Name\Real Name- Shiv Sivasubramaniya Nadar
  • Nickname- Shiv Nadar
  • Profession- Businessman , Industrialist
  • Age of Death – 75
  • Birthplace- Thiruchendur , Tamil Nadu, India
  • Hometown- Thiruchendur , Tamil Nadu,India
  • Nationality- Indian
  • Zodiac – Leo
  • Weight- 81 Kg
  • Height- 5feet 9 inch
  • Date of Birth- 14 July, 1945
  • School- Kumbakonan Town Higher Secondary School, The American College
  • Qualification- Electrical and Electronics Engineering
  • College- PSG College of Technology
  • Religion- Hinduism
  • Caste- Not Know
  • Foodie Type- Not-Known
  • Wife- Kiran Nadar
  • Marital Status – Married
  • Hobbies-  Listening Music , Reading
  • Net Worth- 15.7 Billion Dollar

इसी के साथ आज का ये  आर्टिकल यही पर ख़त्म होता है , अगर आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया हो तो जरूर बताये कमेंट करके और साथ ही इसे अपने दोस्तों के  साथ भी शेयर जरूर करे | और हां , अगर कोई कमी रह गई हो तो उसे भी जरूर बताये ताकि आपके एक कमेंट से हम अपने Shiv Nadar Biography आर्टिकल को और अच्छा कर सके  | तो इसी के साथ आपका बहुत-बहुत शुक्रिया इस आर्टिकल को पढ़ने के लिए |

Bill Gates Biography (Click Here)

Anupjha

hello everyone i'm Anup i start my new career as blogger in 2020 i hope that you'll like my blog post. i want to say that i'll try to my best to get more information about my posts. thanks

Leave a Reply