Sir Isaac Newton Biography In Hindi 2020
source-google

Sir Isaac Newton Biography In Hindi 2020

Sir Isaac Newton Biography-

हेलो ! कैसे हो फ्यूचर के सुपरस्टारों आशा करता हु की अच्छे होंगे और लॉकडाउन का पालन कर  रहे होंगे |

निवेदन – घर पे रहे सुरक्षित रहे। …..

आज जितनी भी चीजे हम अपनी लाइफ में उपयोग कर पा रहे है वो सब जिस एक इंसान की वजह से संभव हो पाया है वो है ” सर इजैक न्यूटन ” , जी हां , इन्ही के आइडियाज और इन्ही के किये कई अविष्कारों की वजह से आज हम एक जगह से दूसरी जगह बड़े ही आराम से जा पा रहे है ,

एक दूसरे से बात कर पा रहे है और तो और आज की हमारी ये लाइफ स्टाइल जो संभव हो पायी है वो सिर्फ और सिर्फ ” सर न्यूटन ” की वजह से ही संभव हो पायी है | ना जाने कितने आविष्कार की ” सर न्यूटन ” ने , जिनकी वजह से आज हम हर वह असंभव चीजों को भी संभव कर पा रहे है जिन्हे की करना एक वक़्त मानव के सोच के परे था |

लेकिन ऐसे महान वैज्ञानिक होने के वावजूद भी उन्हें लोग पागल कहते थे , सनकी कहते और ना जाने क्या-क्या कहते थे | कैसे किया लॉ ऑफ़ ग्रेविटी का खोज ? क्यों अपने ही माता-पिता को जाला कर मार देना चाहते थे ” सर न्यूटन ” ? कैसे किया कैलकुलस जैसे कठिन पाठ की खोज ? ऐसे ही कई और सवालों और उनके जीवन के बारे आज आपको जानने को मिलेगा | तो इस पोस्ट को पूरा पढ़े ताकि आप भी उनके जीवन से जुड़े कुछ राज जान पाए | 

तो चलिए जानते है ” सर न्यूटन ” के बारे में

शुरआती जीवन

” सर न्यूटन ” का जन्म 25 दिसंबर , 1642 को ब्रिटैन के वूल्स्थोर्पे मैनर हाउस में हुआ | यह दिन  बड़ा ही ख़ास था क्युकी इस दिन क्रिसमस था | उनके पिता का नाम “इजैक न्यूटन सीनियर ” था , जोकि उनके जन्म से करीबन 3 महीने पहले ही स्वर्ग सिधार गए थे | जिस वजह से ” सर न्यूटन ” को उनके पिताजी का प्यार नहीं मिल पाया था |

वही उनकी  माता का नाम ” हन्नाह एस्कॉघ “(Hannah Ayscough) था , जोकि एक ग्रहणी थी | जब ” सर न्यूटन ” तीन साल के हुए तो उनकी माता ने दूसरी शादी कर ली | जिससे ” सर न्यूटन ” को बड़ा दुःख हुआ क्युकी उनके नए पिता उनको जरा-सा भी पसंद नहीं करते थे जिस वजह इन दोनों के बीच काफी मन-मोटव रहता था और साथ ही ” सर न्यूटन ” का व्यहार बड़ा ही ग़ुस्सेल और चीड़-चीड़ा हो गया था |

इसी को देख उनकी माताजी ने ” सर न्यूटन ” को उनके नाना-नानी के पास भेज दिया | जहा फिर ” सर न्यूटन ” ने अपना बचपन बिताया | अपने नाना-नानी के पास रहते हुए ही उनके दिमाग में कई विज्ञान के सवाल  आया करते थे | जैसे की ” ये दुनिया किसने बनाई या कैसे बनाई? ” , “कैसे दिन  और रात होते है ?” , ” कैसे लोग किसी चीज को देख पाते है ?” जैसे कई और सवाल उनको अपने नाना-नानी के पास रहते हुए आते थे |

आखिर क्यों अपने माता-पिता को जला कर मार देना चाहते थे ” सर न्यूटन “? Sir Isaac Newton Biography

तो बस  इसीलिए क्युकी उनके नए पिता उनको बिलकुल भी प्यार नहीं करते थे , और उन्हें हमेशा मारते या डांटते रहते थे | जिस वजह ” सर न्यूटन ” का व्यहार बड़ा ही चीड़-चीड़ा हो गया था और अपनी माता की इस गलती की वजह से ही, वह हमेशा ये सोचते थे की  ” काश मुझे मौका मिले तो मैं  इन दोनों को घर में जला कर मार दू ” ,   पर जैसे-जैसे वह बड़े हुए तो उनके अंदर का सारा गुस्सा अपने आप ही शांत होता गया |

स्कूल में कैसे थे ” सर न्यूटन “? Sir Isaac Newton Biography

अपने नाना-नानी के यहाँ 9 साल बिताने के बाद जब ” सर न्यूटन ” 12 साल के हुए तो उनका एडमिशन किंग्स स्कूल में करवा दिया गया | जहा वह शुरआत में काफी मंदबुद्धि बच्चे मने जाते थे , इसी के चलते उनकी क्लास के ओर बच्चे उन्हें बहुत सताया करते थे, यहाँ तक की उन्हें पागल भी बोलते थे |

एक दिन जब उन्हें एक बच्चा सता रहा था तब उन्होंने उसे खूब मारा जिसके चलते उनके स्कूल के प्रिंसिपल ने उन्हें स्कूल से कुछ महीनो के लिए ससपेंड कर दिया |  जिसके बाद ” सर न्यूटन ” फिर से अपनी माँ के पास आकर रहने लगे | क्युकी जब ” सर न्यूटन ” स्कूल में पढाई कर रहे थे तो इसी दौरान उनके दूसरे पिता की भी मृत्यु हो गयी |

जिस वहज  से ही ” सर न्यूटन ” फिर से अपनी माँ के पास आये | यहाँ कुछ महीने अपनी माँ के पास बिताने के बाद जब ” सर न्यूटन ” फिर अपने स्कूल गए तो उन्होंने ये इरादा किया की अब मैं बहुत पढाई करुगा और स्कूल में अपना नाम बनाऊगा |

उसके बाद तो मानो ” सर न्यूटन ” एक जीनियस बन गए , ये देख उनके कई साथी और यहाँ तक की उनके टीचर्स में काफी हैरान रह गए की ये बच्चा जिसे कुछ समय पहले सब मंदबुद्धि कहते थे वो इतना जीनियस कैसे बन गया ? शुरआत में तो किसी को भी यकीन नहीं हुआ पर बाद में ” सर न्यूटन ” ने अपने आपको हर उस एग्जाम में साबित भी किया |

अपनी स्कूली पढाई पूरी करने के बाद ” सर न्यूटन “1661 में अपना एडमिशन ट्रिनिटी कॉलेज ऑफ़ कैंब्रिज में ले लेते है | जहा पढाई बाद में  अयाशी पहली होती है , यहाँ पढाई कर रहे बच्चे पढ़ाई बाद में पहले पार्टी, गर्लफ्रेंड , बॉयफ्रेंड पहले करते है |

जिसे देख ” सर न्यूटन ” को बड़ा गुस्सा आता है पर वह ज्यादा कुछ कर नहीं पते है और अपनी पढाई की फीस को भरने के लिए वह वेटर का भी काम करते है , जिससे की उनका कॉलेज फीस पूरा हो जाता है |

हलाकि वह सबको पार्टी करता देख ” सर न्यूटन ” दुखी भी होते है पर इन सब पे ध्यान ना दे वह अपनी पढाई करते रहते है , यहाँ तक , कॉलेज के लिएब्ररी को छोड़ वह खुदका ही एक लिएब्ररी बना लेते है जहा उनके पास 1,800 से भी ज्यादा किताबे रहती है |

कैसे खोज की कैलकुलस की ” सर न्यूटन ” ने ? Sir Isaac Newton Biography

ये खोज उन्होंने अपने कॉलेज के  दौरान ही की थी हलाकि उन्हें खुद भी पहले ये नहीं पता था की ये खोज  इतना महत्वपूर्ण है | वह हमेशा दूसरे वैज्ञानिको के किताबे पढ़ते थे , जिनसे की उन्हें फिर कैलकुलस जैसे कठिन पाठ खोजने में मदद मिली और आगे जाकर दुनिया ने ” सर न्यूटन ” के इस पाठ से कई आविष्कार किया |

एक उदहारण आपके सामने है आपका मोबाइल या आपका कंप्यूटर इन सब चीजों में कैलकुलस का उपयोग किया गया था | ऐसे ही थोडिये ” सर न्यूटन ” को मॉडर्न साइंस का पिता भी  कहा जाता है |

एप्पल वाली कहानी जिसने की ग्रेविटी को खोजने मदद की ” सर न्यूटन ” की ? Sir Isaac Newton Biography

ये खोज भी उन्होंने अपने कॉलेज के अंतिम सत्र में पढाई करने के दौरान की , हुआ यूँ की , उनके देश ब्रिटैन में एक बहुत ही खतरनाक बीमारी 1665 में आ गई | जिसका की नाम “प्लेग” बीमारी था , इस बीमारी के चलते उनका कॉलेज बंद हो गया और वह अपने घर वापिस आ गए |

जहा वह अपने और भी कई अन्य खोजो पे रिसर्च कर रहे होते है | वही एक दिन जब वह अपने घर के बगल में मौजूद एक सेब का पेड़ देखते है तो वह सोचते है की ” क्यों ना उस पेड़ के नीचे जाकर किताब पढ़ी जाए ” जिसके बाद फिर वह अपनी लिए उस पेड़ के निचे बैठ जाते है और फिर कुछ देर  बैठने के बाद उनके सर पे एक सेब गिरता है ,

जिससे की उनका सारा ध्यान उस सेब पर आ जाता है और फिर वही उन्हें ग्रेविटी के बारे में खोज करने का आईडिया आते है की ” कैसे कोई चीज सिर्फ निचे ही क्यों गिरती है ” ये सवाल अपने मन में लिए फिर वह अपनी कई सालो की रिसर्च से ग्रेविटी की खोज करते है और यही से वह दुनिया को “लॉ ऑफ़ ग्रेविटी ”  देते है , अच्छा भाई  एक उदहारण देना लॉ ऑफ़ ग्रेविटी का ,

तो दोस्तों ये रहा एक बड़ा ही सिंपल उदहारण आप अपने आस-पास जितनी भी चीजे देखते हो जो की ग्रेविटी पे रहती है वह सिर्फ और सिर्फ लॉ ऑफ़ ग्रेविटी की वजह से ही रहती है | सवाल हमेशा जबाब से ज्यादा महत्वपूर्ण है और फिर जिन्होंने भी सवालों के जबाब ढूंढे है वह अपनी सदी के महानायक कह लाये है |

कैसे पहले एप्पल के LOGO पे ” सर न्यूटन ” का ही फोटो आता था ? Sir Isaac Newton Biography

जी है , एप्पल कंपनी जोकि  दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी है ,उसका आज लोगो एप्पल है पर क्या आपको पता था की शुरआत में एप्पल के लोगो पे ” सर न्यूटन ” की वही फोटो थी जिसमें की वह एक एप्पल के पेड़ के निचे बैठे थे ,और वही से ग्रेविटी की खोज करी थी | ये वाली फोटो ही एप्पल कंपनी का सबसे लोगो हुआ करता था |

क्या ” सर न्यूटन ” शादीसुदा थे  और क्या वह वर्जिन ? Sir Isaac Newton Biography

जी नहीं , उन्होंने अपने पुरे जीवन के कभी भी किसी से शादी नहीं की क्युकी वह अपना पूरा समय सिर्फ और सिर्फ अपने अविष्कारों को दिया करते थे | एक बार जब उनके एक दोस्त ने उन्हें गर्लफ्रेंड बनने को कहा तो उन्होंने अपने दोस्त को उसी समय अपने घर से निकाल दिया और फिर कभी उस दोस्त से बात नहीं की | वह अपने पुरे जीवन एक वर्जिन व्यक्ति रहे |

कैसे मृत्यु हुई ” सर न्यूटन ” की ? Sir Isaac Newton Biography

” सर न्यूटन ” ने अपने अविष्कारों से दुनिया को ये बता  की अगर आपके अंदर विशवास है तो आप कुछ भी कर सकते है , फिर चाहे दुनिया आपको पागल ही क्यों ना कहे आप उनको गलत साबित कर सकते है |

अपनी इसी बात के बाद साल 1727 को 20 मार्च के दिन उनकी मृत्यु हो गई और वह अपने अविष्कारों की वजह पूरी दुनिया में अमर हो गये | आज की मॉडर्न दुनिया होने के पीछे सबसे बड़ा हाथ ” सर न्यूटन ” का ही था | वह कई अन्य महान वैज्ञानिको के लिए प्रेणना भी बने है फिर चाहे वह इंस्टीन ,

” सर न्यूटन ” से जुड़े कुछ बहुत ही जबरदस्त फैक्ट्स –

  • ” सर न्यूटन ” को बचपन में कई बच्चे पागल बोलते थे |
  • ” सर न्यूटन ” के पिता एक किसान थे |
  • ” सर न्यूटन ” को स्कूल में किये गए एक लड़ाई की वजह से निकाल दिया गया था |
  • ” सर न्यूटन ” ने अपने 9 अपने नाना- नानी के पास रहकर बिताये थे |
  • ” सर न्यूटन ” अपने कॉलेज की फीस भरने के लिए वेटर का भी काम भी किया करते थे |
  • ” सर न्यूटन ” को अपने अविष्कारों को लोगो सामने रखने से डर लगता था क्युकी वह अपनी किसी भी अविष्कार की बुराई बर्दास्त नहीं कर सकते थे |
  • ” सर न्यूटन ” ने अपने पुरे जीवन एक वर्जिन व्यक्ति  रहे थे |
  • ” सर न्यूटन ” का  जन्म जिस वर्ष हुआ था उसी वर्ष एक और महान वैज्ञानिक का निधन हुआ था जिनका की नाम गालिओ गिलेलिया था |
  • ” सर न्यूटन ” अपने जन्म जन्म के समय काफी कमजोर बालक थे यहाँ तक उनका जीवित रहना भी बहुत मुश्किल था |
  • ” सर न्यूटन ” के पिता का भी नाम इजैक न्यूटन ही था |
  • ” सर न्यूटन ” की माताजी उनको एक किसान बनाना चाहती थी और इसके लिए   ” सर न्यूटन ” ने किसान की परीक्षा भी दी थी जिसमें की वह असफल रहे थे |
  • ” सर न्यूटन ” ने महज 23 साल की उम्र में लॉ ऑफ़ ग्रेविटी की खोज कर दी थी |
  • ” सर न्यूटन ” को भगवान् के ऊपर बहुत विशवास था , पर किसी भूत या नेगेटिव चीजों पर जारा सा भी विशवास नहीं था |
  • ” सर न्यूटन ” ने ही दुनिया को ये साबित किया की धरती सूर्य के चारो और घूमती है |
  • ” सर न्यूटन ” ने कैलकुलस की इसीलिए की क्युकी वह दुनिया को बता सके की आप इसकी मदद से ये पता कर सके की आखिर ग्रह गति क्यों करते है |
  • ” सर न्यूटन ” ने अपने 30 लाख डॉलर उस समय  स्टॉक मार्किट में खो दिए थे |
  • ” सर न्यूटन ” बाए हाथ से लिखते थे |
  • ” सर न्यूटन ” ने अपने आधे से ज्यादा लेख धर्म पे लिखे है |
  • ” सर न्यूटन ” एक साल के इंग्लैंड के संसद मेंबर भी रहे है |
  • ” सर न्यूटन ” की एक मैथ कैलकुलेशन में छोटी गलती थी लेकिन ये 300 सालो तक किसी को नहीं पता चला | 

जल्दी से जानिए सर न्यूटन के बारे में –

  • Full Name- Sir Isaac Newton
  • Nickname- Isaac Newton Junior  
  • Profession- Scientist, Mathematician,Author,Thelogian,Astronomer,Chemist,Physicist,Philospher
  • Date Of Birthday- 25 December, 1642
  • Date of Death- 20 March, 1727
  • Birthplace-  Woolsthorpe Manor House, United Kingdom
  • Age of Death- 85(Approx)
  • Zodiac- Capricorn
  • Nationality- English, British
  • Hometown- Woolsthorpe Manor House, United Kingdom
  • School- King’s School
  • Qualification- Bachelor of Arts degree in Natural Philosophy
  • College- Trinity College, Cambridge
  • Religion- Christianity
  • Height- 5ft 6inch
  • Weight-Not Known
  • Hobbies- Read Book , Write his all Experiment in His notebook

आशा करते है की आपको हमारा ये पोस्ट पसंद आया हो और अगर पसंद आया है तो कृपया एक कमेंट जरूर करे | थैंक्स Biography of Chandrashekhar Azad in hindi Read करने के लिए |

Read More Post-

Anupjha

hello everyone i'm Anup i start my new career as blogger in 2020 i hope that you'll like my blog post. i want to say that i'll try to my best to get more information about my posts. thanks

Leave a Reply